सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

तिरुवनंतपुरम/भाषा। महिला उद्यमिता को बढ़ावा देने की दिशा में बड़ी पहल करते हुए केरल ने कहा कि वह देश का पहला अंतरराष्ट्रीय महिला व्यापार केंद्र (आईडब्ल्यूटीसी) स्थापित करेगा। यह कोझीकोड में होगा।

सरकार का कहना है कि संयुक्त राष्ट्र सतत विकास लक्ष्यों को पाने और लैंगिक समानता के लिए इसकी स्थापना की जाएगी। यह सरकार के सामाजिक न्याय विभाग की ‘जेंडर पार्क’ परियोजना का अहम हिस्सा है।

इस व्यापार केंद्र का मकसद महिलाओं को घर से दूर उनकी उद्यमी क्षमताओं को बढ़ावा देने के लिए एक सुरक्षित माहौल उपलब्ध कराना है। वह यहां अपने कारोबार का विस्तार कर सकेंगी और अपने उत्पादों को वैश्विक स्तर पर पहुंचा सकेंगी।

आईडब्ल्यूटीसी के पहले चरण को ‘जेंडर पार्क’ के ‘विजन 2020’ लक्ष्य के तहत पूरा किया जाएगा। इसके 2021 तक पूरा होने की उम्मीद है।

केरल के स्वास्थ्य एवं सामाजिक न्याय मंत्री केके शैलजा ने कहा कि जेंडर पार्क का आईडब्ल्यूटीसी परियोजना की घोषणा करना महत्वपूर्ण है, वह भी ऐसे समय में जब ज्यादा से ज्यादा महिलाएं उद्यम को अपना रही हैं और स्वरोजगार के क्षेत्र में संभावनाएं तलाश रही हैं।