रविवार को जनता कर्फ्यू के दौरान बेंगलूरु के मैजेस्टिक बस स्टेशन का दृश्य। फोटो: एएनआई।
रविवार को जनता कर्फ्यू के दौरान बेंगलूरु के मैजेस्टिक बस स्टेशन का दृश्य। फोटो: एएनआई।

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कर्नाटक सरकार ने रविवार दोपहर घोषणा की कि राज्य के नौ जिले 31 मार्च तक लॉकडाउन रहेंगे। इस दौरान सिर्फ आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी। घोषणा के अनुसार, राज्यभर में तीन घंटों- रात नौ बजे (जब जनता कर्फ्यू समाप्त होगा) से लेकर रात 12 बजे तक- धारा 144 प्रभावी रहेगी।

नौ कोविड-19 प्रभावित जिले बेंगलूरु, बेंगलूरु ग्रामीण, मैसूरु, कोडगु, दक्षिण कन्नड़ (मेंगलूरु), धारवाड़, बेलगावी, कलबुर्गी और चिक्कबलापुर हैं। मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा की अध्यक्षता में एक बैठक में भाग लेने के बाद इन उपायों की घोषणा करते हुए गृह मंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि 31 मार्च तक इन जिलों में कोई वाणिज्यिक गतिविधि नहीं होगी।

सार्वजनिक परिवहन सहित अंतर-जिला आवाजाही प्रतिबंधित होगी। सार्वजनिक परिवहन सोमवार को भी राज्यभर में काम नहीं करेगा। 31 मार्च तक वातानुकूलित बसें भी नहीं चलेंगी। हालांकि कैब और ऑटो जैसी निजी परिवहन सेवाएं जारी रहेंगी लेकिन मौजूदा हालात में इनकी तादाद कम होने की संभावना है।

मंत्री ने स्पष्ट किया कि लास्ट सेकंड पीयू परीक्षाएं पूरे कर्नाटक में सोमवार को आयोजित की जाएंगी। परीक्षार्थियों के लिए बीएमटीसी, केएसआरटीसी विशेष बसें चलाएगा। नौ कोविड-19 प्रभावित जिलों सहित राज्य में सरकारी दफ्तर काम करते रहेंगे। बोम्मई के अनुसार, राज्य सरकार आगामी स्थिति का अवलोकन कर हालात बेहतर बनाने के लिए जरूरी उपायों पर अमल करेगी।

उल्लेखनीय है कि कर्नाटक सरकार ने 10वीं कक्षा की परीक्षा समेत सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं और राज्य की सीमाएं भी बंद कर दी हैं। मुख्यमंत्री येडियुरप्पा ने बताया कि राज्य की सीमाओं को पूरी तरह से बंद करने का फैसला किया गया है और सबसे सहयोग की अपेक्षा करते हैं।