देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.
देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले से देश को संबोधित करते हुए ‘चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ’ का ऐलान किया, जो तीनों सेनाओं में सामंजस्य बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

मोदी ने कहा कि आतंकवाद का माहौल पैदा करने वालों को नेस्तनाबूद करने की हमारी नीति स्पष्ट है। सुरक्षाबलों, सेना ने उत्कृष्ट काम किया है। मैं उनको नमन करता हूं, उनको सैल्यूट करता हूं। मोदी ने कहा कि सैन्य रिफॉर्म पर लंबे समय से चर्चा चल रही है। कई रिपोर्ट आई हैं। हम गर्व कर सकें ऐसी व्यवस्था है। वो आधुनिकता के प्रयास भी करते हैं।

मोदी ने कहा कि आज तकनीक बदल रही है। ऐसे में तीनों सेनाएं एक साथ एक ही ऊंचाई पर आगे बढ़ें, विश्व में बदलते हुए सुरक्षा और युद्ध के अनुरूप हों.. इसे देखते हुए अब हम चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) की व्यवस्था करेंगे।

बता दें कि प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में स्पष्ट किया कि अब देश में ‘चीफ ऑफ डिफेंस’ का नया पद होगा। इससे थल सेना, नौसेना और वायुसेना के बीच बेहतरीन ढंग से सामंजस्य स्थापित करने में मदद मिलेगी।

वर्तमान में थल सेना के प्रमुख जनरल विपिन रावत, नौसेना के प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह और वायुसेना प्रमुख एयरचीफ मार्शल बीएस धनोआ हैं। संवैधानिक प्रावधानों के अनुसार, भारत के राष्ट्रपति तीनों सेनाओं के अध्यक्ष होते हैं। वहीं सेनाओं का कामकाज रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत आता है।