पी चिदंबरम
पी चिदंबरम

नई दिल्ली/भाषा। आईएनएक्स मीडिया मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका उच्च न्यायालय से खारिज होने के बाद सीबीआई द्वारा उनकी तलाश किए जाने की पृष्ठभूमि में राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने चिदंबरम के प्रति एकजुटता प्रकट करते हुए दावा किया कि नरेंद्र मोदी सरकार सत्ता का दुरुपयोग करके पूर्व वित्त मंत्री का ‘चरित्रहनन’ कर रही है।

दूसरी तरफ, कपिल सिब्बल, सलमान खुर्शीद और अभिषेक मनु सिंघवी चिदंबरम की कानूनी रूप से पैरवी में लगे हुए हैं। राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार चिदंबरम का चरित्रहनन करने के लिए प्रवर्तन निदेशालय, सीबीआई और ‘बिना रीढ़ वाले मीडिया’ का इस्तेमाल कर रही है।

गांधी ने ट्वीट कर कहा, मोदी सरकार ईडी, सीबीआई और बिना रीढ़ के मीडिया के कुछ धड़ों का इस्तेमाल कर रही है ताकि चिदंबरम का चरित्रहनन किया जा सके। उन्होंने कहा, मैं सत्ता के इस शर्मनाक दुरुपयोग की कड़ी निंदा करता हूं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने आरोप लगाया कि सरकार ‘शर्मनाक तरीके से’ चिदंबरम के पीछे पड़ी है क्योंकि वह बेहिचक सच बोलते हैं और सरकार की नाकामियों को सामने लाते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वह चिदंबरम के साथ खड़ी हैं और सच के लिए लड़ाई जारी रखी जाएगी।

प्रियंका ने ट्वीट किया, बहुत ही योग्य और सम्मानित राज्यसभा सदस्य पी चिदंबरम ने दशकों तक बतौर वित्त मंत्री, गृह मंत्री और दूसरे पदों पर रहते हुए पूरी वफादारी से देश की सेवा की है। उन्होंने दावा किया, वे बेहिचक सच बोलते हैं और इस सरकार की नाकामियों का खुलासा करते हैं। लेकिन सच कायरों के लिए सुविधाजनक नहीं होता इसलिए शर्मनाक तरीके से उनका पीछा किया जा रहा है।