सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

लंदन/एएफपी। ब्रिटेन के वैज्ञानिकों के एक दल का मानना है कि कोरोना वायरस का टीका विकसित करने की कोशिश के तहत जंतुओं पर परीक्षण शुरू करने वाले पहले व्यक्ति हैं।

लंदन के इम्पीरियल कॉलेज के शोधार्थियों ने कहा कि उनका लक्ष्य साल के अंत तक इस विषाणु को फैलने से रोकने का सुरक्षित और प्रभावी तरीका विकसित करना है।

इम्पीरियल कालेज के शोधकर्ता पॉल मके ने सोमवार को एएफपी से कहा, अभी तक हमने बैक्टीरिया से पैदा किए टीके को चूहों पर आजमाया है। हम उम्मीद करते हैं कि अगले कुछ सप्ताह में हमें चूहों के रक्त में कोरोना वायरस के प्रति प्रतिक्रिया दिखाई देगी।

दुनियाभर के वैज्ञानिक इस घातक विषाणु से निपटने का उपाय खोजने में लगे हैं। इम्पीरियल कॉलेज को दो दशक पहले सार्स के विषाणु पर किए गए शोध के आधार पर नतीजे जल्द मिलने की उम्मीद है।