सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

पेशावर/भाषा। पाकिस्तानी तालिबान ने उत्तरी वजीरिस्तान के जनजातीय जिले के लोगों को तेज आवाज में संगीत नहीं बजाने और अपने बच्चों को पोलियो की दवा नहीं पिलाने की चेतावनी दी है।

डॉन अखबार में गुरुवार को प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान ने उत्तरी वजीरिस्तान के मीरामशाह स्थित मुख्यालय से बुधवार को एक पन्ने का पैम्पलेट जारी कर यह चेतावनी दी। उर्दू में प्रकाशित संदेश में महिलाओं से कहा गया है कि वे अकेले घर से बाहर नहीं जाएं। उनके साथ कोई पुरुष भी अवश्य हो।

पैम्लेट में लिखा गया है, हम आपको (स्थानीय लोगों) को याद दिलाना चाहते हैं कि इसी तरह के बयान कई बार तालिबान की ओर से जारी किए गए थे जिसे अनसुना कर दिया गया। लेकिन इस बार तालिबान के आदेश का उल्लंघन करने वालों की हम खबर लेंगे।

संदेश में कहा गया है, डीजे का इस्तेमाल नहीं होगा। न तो घर के भीतर और न ही खुले में और जो इस चेतावनी की अनदेखी करेंगे वे इसके परिणाम के लिए स्वयं जिम्मेदार होंगे।

पैम्पलेट में लोगों के कंप्यूटर पर या दुकान में तेज आवाज में संगीत बजाने को प्रतिबंधित करने की बात कही गई है। साथ ही चेतावनी दी गई है कि जहां से संगीत सुनाई देगा, उसे कभी भी उड़ाया जा सकता है।

पोलियो कार्यकर्ताओं से कहा गया है कि वे टीकाकरण अभियान के दौरान बच्चों की उंगलियों पर निशान लगाएं, लेकिन वे बच्चों को पोलियों की दवा नहीं पिलाएं। संदेश में आगे कहा गया है कि महिलाएं अकेले घर से नहीं निकलें।

LEAVE A REPLY

two × 3 =