गौतम गंभीर
गौतम गंभीर

नई दिल्ली/भाषा। क्रिकेटर से नेता बने गौतम गंभीर ने ‘लापता’ वाले पोस्टरों से निशाना बनाए जाने के बाद आम आदमी पार्टी (आप) पर पलटवार किया। आप ने पोस्टरों में कहा था कि सांसद को ‘आखिरी बार इंदौर में जलेबियां खाते हुए देखा गया था।’

गंभीर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु प्रदूषण पर संसद की स्थायी समिति की एक बैठक में शामिल नहीं हुए थे जिसके बाद दिल्ली में ये पोस्टर लगाए गए थे।

गंभीर ने संसद के बाहर सोमवार को पत्रकारों से कहा, ‘अगर मेरे जलेबी खाने से राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण बढ़ गया तो मैं हमेशा के लिए जलेबियां खाना छोड़ दूंगा। दिल्ली के सांसद के तौर पर पांच महीने के कार्यकाल में मैंने जो काम किया है, वह प्रदूषण के मुद्दे पर मेरी गंभीरता का सबूत है।’

बैठक की महत्ता को मानते हुए गंभीर ने अपनी अनुपस्थिति का यह कहते हुए बचाव किया कि अनुबंधीय दायित्व के कारण उन्हें भारत-बांग्लादेश क्रिकेट मैच कमेंट्री के लिए इंदौर में रहना था।

उन्होंने आप पर पलटवार किया और अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली पार्टी से उन पर हमला करने के बजाय प्रदूषण पर लगाम लगाने पर ध्यान केंद्रित करने को कहा। पूर्वी दिल्ली के सांसद ने कहा कि उनकी दो छोटी बेटियां हैं और वे इस मुद्दे को लेकर संवेदनशील हैं।