प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग का स्वागत किया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग का स्वागत किया।

महाबलीपुरम/दक्षिण भारत। चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग शुक्रवार को महाबलीपुरम पहुंचे। इससे पहले वे चेन्नई पहुंचे जहां तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित, मुख्यमंत्री ई. पलानीसामी ने उनका भव्य स्वागत किया। चीनी राष्ट्रपति का महाबलीपुरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वागत किया। सोशल मीडिया में दोनों नेताओं की तस्वीरें खूब शेयर की जा रही हैं। इसे महाबलीपुरम में दो महाबली नेताओं की मुलाकात कहा जा रहा है।

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी पारंपरिक तमिल पोशाक और शी जिनफिंग पेंट-शर्ट में नजर आए। मोदी ने शी का गर्मजोशी से स्वागत किया और दोनों नेताओं ने काफी समय तक हाथ मिलाया। प्रधानमंत्री ने चीनी राष्ट्रपति को देश की प्राचीन संस्कृति से रूबरू कराया।

मोदी ने शी जिनफिंग को ऐतिहासिक कलाकृतियों के बारे में जानकारी दी। धार्मिक मान्यता के अनुसार, इस स्थान का संबंध अर्जुन की तपस्या से है। यहां पत्थरों को काटकर सुंदर कलाकृतियां उकेरी गई हैं जिसे देखकर हर कोई मंत्रमुग्ध रह जाता है।

मोदी ने शी जिनफिंग को ‘कृष्णा बटरबॉल’ के बारे में भी बताया। यह एक विशाल चट्टान है जो अपने संतुलन और अडिगता के कारण जानी जाती है। इसका रोचक इतिहास रहा है। कहते हैं कि इसे हटाने के लिए हाथियों को इस्तेमाल किया जा चुका है लेकिन चट्टान अपनी जगह से नहीं हिली। मोदी और शी की मुलाकात के बीच महाबलीपुरम ट्विटर पर खूब चर्चा में है। यूजर्स का कहना है कि इससे दक्षिण भारत में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।