capital punishment
capital punishment

पणजी/दक्षिण भारत। हैदराबाद में महिला चिकित्सक के साथ दुष्कर्म और हत्या के बाद देशभर में लोगों ने इस घटना पर आक्रोश प्रकट किया है। साथ ही ऐसे अपराधों को अंजाम देने वाले दरिंदों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग भी की जा रही है। सोशल मीडिया पर ऐसे यूजर्स की बड़ी तादाद है जिनका कहना है कि बलात्कारियों को सरेआम फांसी देनी चाहिए, इससे एक सख्त संदेश जाएगा।

गोवा प्रदेश महिला कांग्रेस समिति (जीपीएमसीसी) की अध्यक्ष प्रतिमा काउतिन्हो ने भी इसका समर्थन करते हुए बलात्कारियों को सबके सामने फांसी या गोली मारने जैसी सजा की बात कही है। पत्रकारों से वार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि मुझे फर्क नहीं पड़ेगा यदि इस मामले में इस्लामी देशों के कानून का इस्तेमाल किया जाए और सभी आरोपियों को लोगों के सामने गोली मारी जाए या फांसी पर लटका दिया जाए।

उन्होंने अदालती कार्यवाही जल्द पूरी होने पर जोर दिया। प्रतिमा ने कहा कि इस मामले में सुनवाई सात दिन में पूरी होनी चाहिए। इसके बाद दोषियों को गोली मार दी जाए। उन्होंने कहा कि बलात्कारियों को दी गई सजा को टीवी पर भी दिखाया जाए जिससे इस किस्म की विकृत सोच रखने वाले लोगों को सख्त संदेश मिले कि अगर वे ऐसा अपराध करेंगे तो उनके साथ भी ऐसा होगा।

कांग्रेस नेता ने हैदराबाद मामले पर कहा कि सीसीटीवी फुटेज में आरोपियों के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं और उन्होंने अपना गुनाह कबूल भी कर लिया है। आरोपियों ने योजनाबद्ध ढंग से अपराध को अंजाम दिया और पुलिस जांच में स्पष्ट हो चुका है कि महिला का पीछा किया गया। ये सभी बिंदु इन आरोपियों को गुनहगार साबित करने के लिए काफी हैं। लिहाजा मामले का जल्द फैसला होना चाहिए।