पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज
पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। पूर्व विदेश मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता सुषमा स्वराज का मंगलवार देर रात को निधन हो गया। वे 67 साल की थीं। उन्होंने दिल्ली के एम्स अस्पताल में आखिरी सांस ली। ​रिपोर्ट्स के अनुसार, हार्ट अटैक के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। काफी दिनों से उनकी सेहत ठीक नहीं थी। एम्स के सूत्रों ने बताया कि स्वराज को रात 10.15 बजे अस्पताल लाया गया और उन्हें सीधे आपातकालीन वॉर्ड में ले जाया गया। भाजपा की वरिष्ठ नेता का 2016 में गुर्दा प्रतिरोपित किया गया था।

सुषमा स्वराज के निधन की खबर सुनते ही भाजपा कार्यकर्ताओं और उनके प्रशंसकों में शोक की लहर दौड़ गई। 14 फरवरी, 1953 को हरियाणा के अंबाला कैंट में जन्मीं सुषमा स्वराज का नाम भाजपा के चर्चित चेहरों में शुमार था। वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बनी पहली सरकार में विदेश मंत्री भी रहीं और ट्विटर पर मदद मुहैया कराकर लोगों का दिल जीता।

सुषमा स्वराज प्रखर वक्ता थीं। वे वाजपेयी सरकार में भी मंत्री रहीं। उन्होंने 16वीं लोकसभा के लिए मध्य प्रदेश के विदिशा से चुनाव लड़ा और जीतीं। साल 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले ही उन्होंने स्वास्थ्य संबंधी कारणों से चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया था। उनके नाम दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री होने का रिकॉर्ड भी दर्ज है।

मंगलवार को जब पूरा देश लोकसभा की कार्यवाही देख रहा था और जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने की संवैधानिक प्रक्रिया संपन्न हुई तो सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्रीजी, आपका हार्दिक अभिनंदन। मैं अपने जीवन में इस दिन को देखने की प्रतीक्षा कर रही थी।’ स्वराज का यह आखिरी ट्वीट था। इसके कुछ घंटे बाद ही उनका निधन हो गया।

1 COMMENT

  1. नमस्ते। सुषमा स्वराज धर्म राज के राज में राज करने चली गई। भावभीनी श्रद्धांजलि।

LEAVE A REPLY

4 × four =