प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

जम्मू/दक्षिण भारत। जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 के प्रावधानों को निष्प्रभावी करने के बाद अब दुनियाभर की निगाहें धरती की इस ‘जन्नत’ की ओर हैं। यहां सुरक्षा बलों के जवान मुस्तैदी से तैनात हैं। आशंकाओं के विपरीत यहां हालात शांतिपूर्ण हैं। लोगों की ज़िंदगी पटरी पर आ रही है।

लोगों को रोजमर्रा के काम में कोई तकलीफ न हो, इसके लिए दुकानें खोलने की भी इजाजत दी गई और सुरक्षा बलों के जवानों ने आम कश्मीरियों की मदद की। वहीं, जम्मू-कश्मीर पर केंद्र द्वारा लिए गए फैसले के संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार रात 8 बजे देश को संबोधित करेंगे। पिछली बार प्रधानमंत्री ने 27 मार्च को देश को संबोधित किया था, जब भारत ने एंटी-सैटेलाइट मिसाइल का परीक्षण करते हुए लाइव सैटेलाइट को मार गिराने में सफलता प्राप्त की थी।

जम्मू में गुरुवार सुबह दुकानें खुलीं। इस दौरान लोग दूध, फल, सब्जी, दवाइयां और दैनिक जरूरत का सामान खरीदते नजर आए। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने भी बुधवार को शोपियां जिले में आम कश्मीरियों के साथ मुलाकात की और उनके साथ भोजन किया। डोभाल ने लोगों को सुरक्षा का भरोसा दिलाया और कहा कि नागरिकों और उनके परिजनों की हिफाजत हमारी जिम्मेदारी है।

उन्होंने स्थानीय लोगों के साथ बातचीत कर उनकी समस्याएं जानीं और भरोसा दिलाया कि बहुत जल्द सबकुछ ठीक हो जाएगा। डोभाल ने शोपियां में कहा कि सरकार ने यह फैसला आम कश्मीरियों के हित में लिया है जिसके लिए किसी को भी चिंतित होने की जरूरत नहीं है।

एक रिपोर्ट के अनुसार, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजादी भी गुरुवार को श्रीनगर पहुंच सकते हैं। चर्चा है कि वे अनुच्छेद-370 पर केंद्र के फैसले को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे।

दूसरी ओर, पाकिस्तान कश्मीर घाटी में हालात बिगाड़ने के लिए लगातार षड्यंत्र रच रहा है। पाकिस्तानी टीवी चैनलों पर होनी वाली बहस में उसके कई नेता अपना मानसिक संतुलन खोते नजर आए। इसके मद्देनजर भारत सरकार कश्मीर के हालात पर लगातार नजर बनाए हुए है। घाटी में शांति और सौहार्द कायम रखने के लिए 100 से ज्यादा राजनेता और कार्यकर्ता गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

चूंकि 12 अगस्त को ईद-उल-अजहा है, इसलिए शुक्रवार को नमाज के लिए कर्फ्यू में ढील देने की संभावना है, ताकि लोग खुशी—खुशी तैयारियां करें और बिना किसी दिक्कत त्योहार मनाएं।

LEAVE A REPLY

sixteen − fourteen =