सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

नई दिल्ली/भाषा। अमेरिका और चीन के व्यापार समझौते पर पहुंचने के बाद शेयर बाजारों में इस सप्ताह तेजी जारी रहने की उम्मीद है। विशेषज्ञों ने यह बात कही।

चीन और अमेरिका के व्यापार तनाव को आगे नहीं खींचने पर सहमत होने और ब्रिटेन के आम चुनाव में बोरिस जॉनसन को मिली जीत की खबरों के बाद बीते सप्ताह के आखिर में वैश्विक बाजारों में तेजी का रुख रहा।

अमेरिका और चीन ने व्यापार समझौते के ‘पहले चरण’ के करीब पहुंचने के बाद एक-दूसरे के उत्पादों पर प्रस्तावित अतिरिक्त शुल्क को फिलहाल टाल दिया है।

रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड के उपाध्यक्ष (अनुसंधान) अजित मिश्रा ने कहा, वैश्विक मोर्चे पर हालिया घटनाक्रमों ने लंबे समय से चले आ रहे संकट की आशंका को कम किया है और दुनिया भर के बाजारों के निवेशक उत्साहित है। हमारा मानना है कि आगामी हफ्ते में बाजार में सकारात्मक रुख जारी रहेगा।

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के खुदरा अनुसंधान के प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा, अमेरिका और चीन व्यापार समझौते में और स्पष्टता आने से इस सप्ताह बाजार में तेजी जारी रह सकती है। पूंजी प्रवाह का स्तर उत्साहजनक स्थिति में है, जो आगे भी जारी रह सकता है।

खेमका ने कहा कि सकारात्मक वैश्विक रुख और पूंजी प्रवाह इस सप्ताह बाजार में तेजी बनाए रखने में मदद कर सकता है।

इसके अलावा, बाजार की नजर सोमवार को आने वाले थोक मुद्रास्फीति के आंकड़े पर भी रहेगी। रुपये की स्थिति और कच्चे तेल के दाम जैसे कारक भी बाजार की धारणा को प्रभावित करेंगे। पिछले सप्ताह के दौरान, सेंसेक्स 564.56 अंक यानी 1.39 प्रतिशत बढ़ा।