बलदेव कुमार। तस्वीर: एएनआई।
बलदेव कुमार। तस्वीर: एएनआई।

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान जिस ‘नए पाकिस्तान’ के नारे के साथ हुकूमत में आए थे, उसकी हकीकत अब सामने आने लगी है। उनकी पार्टी पीटीआई के एक नेता एवं पूर्व विधायक रहे बलदेव कुमार ने भारत आकर पाक की पोल खोली है। बलदेव ने बताया कि पाकिस्तान अल्पसंख्यकों के लिए असुरक्षित है। उन्होंने पाकिस्तान जाने से भी इनकार किया है।

बलदेव ने बताया कि पाकिस्तान में न केवल अल्पसंख्यक, बल्कि मुसलमान भी सुरक्षित नहीं हैं। उन्होंने भारत सरकार से गुहार लगाई है कि उन्हें यहां शरण दे, क्योंकि अब वे कभी पाकिस्तान नहीं जाना चाहते।

उल्लेखनीय है कि बलदेव कुमार तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी की ओर से आरक्षित सीट से पूर्व में विधायक रह चुके हैं। ऐसे में जब उन्होंने ही पाकिस्तान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है, तो यह कई सवाल खड़े करता है। हाल में वहां जबरन धर्मांतरण के लिए सिख और हिंदू लड़कियों के अपहरण की घटनाएं सामने आई थीं।

अब पाकिस्तान में सत्तारूढ़ पार्टी के इस पूर्व विधायक ने भी साफ कर दिया है कि अल्पसंख्यकों को वहां बहुत ज्यादा मुश्किल हालात का सामना करना पड़ता है। बलदेव कुमार ने कहा कि वे भारत सरकार से अनुरोध करते हैं कि उन्हें यहां शरण दी जाए। उन्होंने कहा, मैं अब वापस पाकिस्तान नहीं जाऊंगा। उन्होंने मोदी सरकार से अनुरोध किया कि विशेष पैकेज की घोषणा करनी चाहिए, ताकि पाकिस्तान में प्रताड़ित हिंदू, सिख एवं अन्य अल्पसंख्यक भारत आ सकें।

बलदेव कुमार ने बताया कि पाकिस्तान में बहुत असुरक्षा का माहौल है। उन्होंने इमरान खान के लिए कहा कि पाक की जनता की तरह उन्हें भी बहुत उम्मीदें थीं लेकिन आखिर में निराशा ही मिली।