प्रधानमंत्री कार्यालय की वेबसाइट से लिया गया एक चित्र
प्रधानमंत्री कार्यालय की वेबसाइट से लिया गया एक चित्र

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। अक्सर सरकारी विभागों की कार्यशैली को लेकर आम नागरिकों की कई शिकायतें होती हैं। समय पर काम न होना, अनावश्यक चक्कर लगवाना, कर्मचारी द्वारा सहयोग न करना जैसी शिकायतें सरकारी तंत्र के संबंध में सुनने को मिलती हैं। कुछ लोग उच्चाधिकारियों को शिकायत करते हैं लेकिन उन्हें उस समय निराशा होती है जब वहां से भी कोई जवाब नहीं आता। पुलिस हो या अन्य विभाग, अगर आप ऐसे मामलों में परेशानी का सामना कर रहे हैं तो सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक अपनी आवाज पहुंचा सकते हैं।

इसके लिए आपको न तो किसी दफ्तर के चक्कर लगाने होंगे और न ही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली तक का सफर करना होगा। प्रधानमंत्री मोदी तक अपनी बात इंटरनेट का इस्तेमाल कर पहुंचाई जा सकती है। अगर आपको भी किसी सरकारी विभाग से कोई शिकायत है तो प्रधानमंत्री तक अपनी शिकायत इस तरह पहुंचाएं:

1. पीएमओ की वेबसाइट पर यह विकल्प है कि आप आसानी से प्रधानमंत्री तक अपनी बात पहुंचा सकते हैं। आपको सिर्फ एक ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा और महज कुछ क्लिक के बाद आपके ‘मन की बात’ सीधे प्रधानमंत्री कार्यालय पहुंच जाएगी।

2. इस प्रक्रिया में सबसे पहले आपको पीएमओ इंडिया की वेबसाइट पर जाना होगा। आप यहां क्लिक कर इस वेबसाइट पर जा सकते हैं।

3. अब आपको यहां दायीं ओर बड़े अक्षरों में एक विकल्प दिखाई देगा ‘राइट टू द प्राइम मिनिस्टर’। इस पर क्लिक कीजिए।

4. अब आपको एक ऑनलाइन फॉर्म मिलेगा। इसमें नाम, पता, पिन कोड, मो. नं. आदि भरें। यहां ‘कैटेगिरी’ नामक विकल्प दिखाई देगा, जिसमें आपको चयन करना होगा कि शिकायत किस संबंध में है।

5. सबसे नीचे एक मैसेज बॉक्स दिखाई देगा। यहां अपनी शिकायत का उल्लेख कर सकते हैं। अगर आप पीडीएफ फाइल भेजना चाहते हैं तो उसे अटैच करने का विकल्प भी मौजूद है।

6. फॉर्म पूरा भरने के बाद उसे एक बार फिर पढ़ लें ताकि यह सुनिश्चित कर सकें कि इसमें कहीं कोई त्रुटि नहीं है। सभी विकल्पों को ठीक तरह से भरने के बाद सबसे नीचे दिए गए विकल्प ‘सब्मिट’ पर क्लिक कीजिए।

7. यह प्रक्रिया संपन्न होते ही आपको एक रजिस्ट्रेशन नंबर मिलेगा। इसका मतलब है कि प्रधानमंत्री कार्यालय तक आपकी बात पहुंच गई है। इस रजिस्ट्रेशन नंबर को नोट कर लें, क्योंकि बाद में इसकी जरूरत पड़ सकती है। इस प्रकार इंटरनेट का उपयोग कर आप किसी भी विभाग के बारे में प्रधानमंत्री तक अपनी शिकायत पहुंचा सकते हैं।