अमेरिका/इस्लामाबाद। अमेरिका ने पाकिस्तान को आतंकवाद के मुद्दे पर दोहरा चरित्र अपनाने का आरोप लगाते हुए उसे धमकी दी है कि अगर वह अमेरिका से भविष्य में भी आर्थिक मदद चाहता है तो उसे आतंकवाद के खिलाफ और सक्रिय होना होगा।व्हाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैन्डर्स ने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा कि पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ और कदम उठाने होंगे क्योंकि अमेरिका ऐसा चाहता है। उन्होंने कहा कि दबाव बनाने के लिए वह पाकिस्तान के खिलाफ कुछ दिनों में कार्रवाई कर सकते हैं। यह बयान संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने पाकिस्तान को दी जाने वाली २५.५ करो़ड डॉलर की आर्थिक मदद बंद करने की घोषणा की थी।हेली ने कहा था, आतंकवाद के खिलाफ वर्षों से पाकिस्तान की दोहरी भूमिका के कारण हम ऐसा निर्णय ले रहे हैं। पाकिस्तान एक ही समय में हमारे साथ काम करता है और अफगानिस्तान में हमारे सैनिकों की हत्या करने वाले आतंकवादियों को शरण भी देता है।अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को ट्वीट किया था कि अमेरिका पिछले १५ वर्षों से पाकिस्तान को ३३ अरब डॉलर की मदद करने की मूर्खता कर चुका है। अमेरिका को इसके बदले में पाकिस्तान से झूठ और धोखा मिला है। पाकिस्तान के नागरिक और सैन्य प्रमुखों ने अमेरिका के बयानों को समझ से बाहर बताकर पाकिस्तान में अमेरिकी राजदूत डेविड हेल को लेकर ट्रंप के ट्वीट पर स्पष्टीकरण मांगा है।संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तानी राजदूत मलीहा लोधी ने एक बयान में कहा कि आतंकवाद के खिलाफ उसकी ल़डाई किसी आर्थिक मदद पर नहीं बल्कि पाकिस्तान के हित और सिद्धांतों पर आधारित है।

LEAVE A REPLY

four × 2 =