आईटीबीपी जवान अमित सिंह
आईटीबीपी जवान अमित सिंह

भोपाल/दक्षिण भारत। आईटीबीपी में तैनात मध्य प्रदेश के एक जवान की ‘पान सिंह तोमर’ बनने की धमकी के बाद हड़कंप मच गया। दरअसल जवान अमित सिंह के परिजनों के साथ खंडवा जिले के पर्यटन स्थल हनुवंतिया में मारपीट हो गई थी। मामले पर पुलिस की निष्क्रियता से जवान अमित सिंह नाराज हो गया और उसने आनन-फानन में अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर पोस्ट लिखकर धमकी दे डाली कि अगर इंसाफ न हुआ तो वह भी ‘पान सिंह तोमर’ की राह चला जाएगा।

मामला मुख्यमंत्री कमलनाथ तक पहुंचा तो उन्होंने आरोपियों और संबंधित पुलिस अधिकारियों के खिलाफ जांच के आदेश दे दिए। मुख्यमंत्री द्वारा की गई इस पहल के लिए अमित सिंह ने उन्हें धन्यवाद कहा। बता दें कि 16 अगस्त को पर्यटन स्थल हनुवंतिया द्वीप क्षेत्र में जवान अमित सिंह के परिजनों के साथ वहां मौजूद सुरक्षाकर्मियों और कर्मचारियों ने मारपीट की। आरोप है कि इस मामले में पुलिस का रवैया निष्क्रिय रहा।

जब अमित सिंह को घटना की जानकारी मिली तो उसने सोशल मीडिया पर ‘पान सिंह तोमर’ की तरह बगावत की धमकी दे डाली। देखते ही देखते अमित सिंह की यह पोस्ट शेयर होने लगी और काफी यूजर्स उसके पक्ष में जुटने लगे। अमित ने बताया कि उसके परिजन हनुवंतिया टापू पर घूमने गए थे। वहां बच्चों के लिए दूध की बोतलें और बिस्किट ले जाने की बात को लेकर सुरक्षाकर्मियों से विवाद हो गया।

आरोप है कि वहां तैनात सुरक्षाकर्मी चरण सिंह और अन्य ने अमित के परिजनों पर ईंट, लाठी और बीयर की बोतलों से हमला किया। अमित ने बताया कि इससे उनका छोटा भाई बुरी तरह घायल हो गया और उसकी आंखों की 80 प्रतिशत रोशनी चली गई है। इससे आक्रोशित होकर अमित ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया, ‘मेरे साथ और मेरे भाई के साथ न्याय करें, मजबूर न करें। नया पान सिंह तोमर बनने के लिए मुझे बंदूक चलाने की ट्रेनिंग नहीं लेना पड़ेगी।’

वहीं, मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अमित सिंह के परिवार को सुरक्षा का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि मेरी सरकार में किसी के साथ भी अन्याय नहीं होगा और न ही अन्याय को किसी प्रकार का संरक्षण मिलेगा। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को मामले की जांच के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि किसी निर्दोष पर कोई गलत कार्रवाई न हो। इस मामले पर अमित सिंह ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि मुख्यमंत्री उनके परिवार के साथ अन्याय नहीं होने देंगे और पूरी मदद करेंगे।