बाबा वैराग्यनंद
बाबा वैराग्यनंद

भोपाल/दक्षिण भारत। मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह की जीत के लिए मिर्ची यज्ञ करवाकर सुर्खियां बटोरने वाले बाबा वैराग्यनंद ने अब प्रशासन से जल समाधि की इजाजत मांगी है। बता दें कि वैराग्यनंद ने लोकसभा चुनाव के दौरान भोपाल से दिग्विजय सिंह की जीत का दावा किया था। हालांकि उनके दावे धरे रह गए और दिग्गी चुनाव हार गए।

बाबा वैराग्यनंद ने भोपाल कलेक्टर को पत्र लिखकर कहा है कि वे 16 जून को दोपहर 2 बजकर 11 मिनट पर जल समाधि लेना चाहते हैं। लिहाजा उन्हें इसकी इजाजत दी जाए। इस तरह लोकसभा चुनाव के दौरान भोपाल में करीब 5 क्विंटल मिर्ची से यज्ञ कराने वाले बाबा अब जल समाधि की इजाजत मांगकर एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं।

बाबा वैराग्यनंद ने यज्ञ के बाद दावा किया था कि इसके प्रभाव से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह भारी मतों से जीतेंगे और भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की हार तय है। यही नहीं, बाबा ने यहां तक कह दिया था कि यदि दिग्विजय सिंह चुनाव नहीं जीते तो वे (वैराग्यनंद) जल समाधि ले लेंगे। 23 मई को जब चुनाव नतीजे आए तो बाबा की भविष्यवाणी फेल हो गई और सोशल मीडिया पर दिग्गी के साथ उनका भी खूब मजाक उड़ा।

यूजर्स ने बाबा वैराग्यनंद से जल समाधि की तारीख पूछनी शुरू कर दी। हालांकि इस दौरान बाबा मीडिया के सामने नहीं आए। बाद में वे उत्तर प्रदेश में एक इफ्तार पार्टी में दिखाई दिए। वे मीडिया के सवालों से भी बचते रहे।

उधर, सोशल मीडिया पर कई लोगों ने बाबा के दावों पर सवाल उठाने शुरू कर दिए। साथ ही उन्हें ढूंढ़कर लाने वाले को एक लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा भी कर दी। चौतरफा आलोचनाओं से घिरे बाबा वैराग्यनंद ने आखिरकार प्रशासन से जल समाधि की इजाजत का दांव चल दिया। उन्होंने कहा कि वे अपनी बात पर अटल हैं और जो संकल्प किया, उसे जरूर पूरा करेंगे। हालांकि बाबा के इस कदम को भी चर्चा में आने का एक जरिया माना जा रहा है। चूंकि प्रशासन जल समाधि लेने जैसे कार्य की इजाजत नहीं देगा, इसलिए बाबा अपनी ‘प्रतिज्ञा’ निभाने की कोशिश करते भी दिखाई देंगे और सकुशल भी रहेंगे।

LEAVE A REPLY

1 + 20 =