अमरनाथ यात्रा
अमरनाथ यात्रा

श्रीनगर/दक्षिण भारत। जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने पर्यटकों और अमरनाथ यात्रियों को कश्मीर घाटी में रहने की अवधि में कटौती करने और जल्द घाटी छोड़ने की सलाह जारी की है। चूंकि इस समय अमरनाथ यात्रा भी चल रही है जिसमें हजारों की तादाद में श्रद्धालु बाबा बर्फानी के दर्शन-पूजन के लिए गए हुए हैं।

ऐसे में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उन्हें सलाह दी गई है कि वे जल्द घाटी छोड़ने को लेकर कदम उठाएं। बता दें कि यह एडवाइजरी आतंकी हमले की आशंका के मद्देनजर गृह विभाग द्वारा जारी की गई है।

इसमें प्रमुख सचिव ने कहा है कि पर्यटक और अमरनाथ यात्री यथाशीघ्र घाटी से वापस लौट जाएं। इस एडवाइजरी में कहा गया है कि खुफिया सूचनाओं एवं घाटी के हालात को ध्यान में रखते हुए पर्यटक और अमरनाथ यात्री जल्द से जल्द घाटी से वापस लौटें।

बता दें कि शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में सेना ने भी पाक की आतंकी करतूतों का एक बार फिर खुलासा किया। सेना ने बताया कि अमरनाथ यात्रा मार्ग से पाकिस्तान में बनी बारूदी सुरंग और बड़ी मात्रा में हथियार बरामद किए गए हैं।

लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लों ने सुरक्षा बलों के एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए बताया कि ऐसी खुफिया जानकारी मिली थी कि पाक के आतंकवादी आईईडी का इस्तेमाल कर अमरनाथ यात्रा को निशाना बना सकते हैं और श्रद्धालुओं पर हमला कर सकते हैं। इसके बाद यात्रा मार्ग पर खोजी अभियान चलाया गया।

उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों द्वारा अमरनाथ यात्रा मार्ग पर चलाए गए बड़े अभियान के दौरान भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए हैं। इनमें पाकिस्तान आयुध फैक्ट्री के ठप्पे वाली एक बारूदी सुरंग और अमेरिकी एम-24 स्नाइपर राइफल भी शामिल है।

LEAVE A REPLY