कुलदीप सेंगर
कुलदीप सेंगर

नई दिल्ली/भाषा। उन्नाव दुष्कर्म मामले में आरोपी उत्तर प्रदेश के विधायक कुलदीप सेंगर को भाजपा ने गुरुवार को पार्टी से निष्कासित कर दिया। आरोपी अभी जेल में बंद है। भाजपा सूत्रों ने बताया कि सेंगर को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है।

दुष्कर्म पीड़िता के सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल होने के कुछ दिन बाद यह कदम उठाया गया है। गौरतलब है कि रायबरेली में एक तेज रफ्तार ट्रक ने रविवार को दुष्कर्म पीड़िता की कार को टक्कर मार दी थी। इस हादसे में पीड़िता के परिवार के दो सदस्यों की मौत हो गई।

पीड़िता और उसका वकील गंभीर रूप से घायल हैं, जिनका लखनऊ के एक अस्पताल में इलाज जारी है। परिवार ने इस घटना को एक सोची-समझी साजिश बताया है। आरोपी विधायक को भाजपा ने पहले निलंबित कर दिया था। अब उसे पार्टी से बाहर कर दिया गया है।

बता दें कि अब मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई है। सीबीआई ने विधायक सेंगर सहित दस लोगों के खिलाफ हत्या के प्रयास एवं अन्य धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज कर लिया है। इसके बाद सीबीआई की लखनऊ इकाई के अधिकारियों का एक दल रायबरेली जिले के गुरबख्शगंज इलाके में पहुंचा, जहां हादसा हुआ था।

उच्चतम न्यायालय की सख्ती
वहीं, इस मामले पर सख्ती दिखाते हुए उच्चतम न्यायालय ने आदेश दिया है कि सात दिन में दुर्घटना की जांच पूरी हो। गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने स्पष्ट किया था कि वह विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की संलिप्तता वाले मामले को उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले से बाहर स्थानांतरित करेगा। विपक्षी दलों ने भी भाजपा पर कई सवाल दागे थे और पीड़िता के लिए इंसाफ की मांग बुलंद की।

LEAVE A REPLY