कोलकाता। भारतीय टीम गुरुवार से यहां होने वाले दूसरे एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में शीर्ष क्रम बल्लेबाजों के सीरीज के शुरुआती मुकाबले में खराब प्रदर्शन की भरपायी करने की उम्मीद के साथ चाहेगी कि उनके स्पिनर ऑस्ट्रेलियाई खिलाि़डयों को परेशान करना जारी रखें।ऑस्ट्रेलियाई टीम को भारत के कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की नई स्पिन जो़डी को खेलने में काफी मुश्किल हुई तथा मेजबान भी यह सुनिश्चित करना चाहेंगे कि सीरीज के आगे ब़ढने के दौरान भी इसमें कोई ढिलाई नहीं आए।यादव की गेंद ऑस्ट्रेलियाई खिलाि़डयों के लिए रहस्यमयी साबित हो रही है और उन्हें चहल की स्लाइडर को भी समझने में परेशानी हो रही है। मेहमान खिला़डी स्थानीय स्पिनरों की मदद लेते हुए भी दिखायी दिए ताकि भारतीय गेंदबाजों का डटकर सामना कर सकें।केरल के केके जियास ने चेन्नई वनडे से पहले और यहां स्थानीय क्लब के दो गेंदबाजों आशुतोष शिवराम और रूपक गुहा ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को स्पिनरों से निपटने का कुछ अभ्यास कराया।बारिश से प्रभावित पहले वनडे में २१ ओवरों में १६४ रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम ने ३५ रन में चार विकेट गंवा दिए थे, इसके बाद ग्लेन मैक्सवेल ने शानदार शाट लगाकर उम्मीद तो जगायी। लेकिन चहल और यादव ने शानदार गेंदबाजी प्रदर्शन करते हुए डकवर्थ लुईस पद्धति से भारत को २६ रन से जीत दिलाई। ऑस्ट्रेलियाई खिलाि़डयों के लिए सबसे ब़डा खतरा हार्दिक पंड्या के रूप में हैं जिन्होंने भारत को छह विकेट पर ७६ रन के स्कोर से सात विकेट पर २८१ रन के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने में मदद की। पंड्या ने एक बार फिर छक्कों की हैट्रिक ‘अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में चार बार’’ लगाते हुए महेंद्र सिंह धोनी (८८ गेंद में ७९ रन) के साथ ११८ रन की मैच का रूख बदलने वाली साझेदारी के दौरान ६६ गेंद में ८३ रन की पारी खेली।आईपीएल २०१५ के बाद से पंड्या का च़ढाव शानदार रहा है। वह बेपरवाह हिटर से अब खिला़डी के तौर पर परिपक्व बनते जा रहे हैं। इसके साथ ही वह भारत के लिए मध्यम गति की गेंदबाजी करने वाले उपयोगी आल राउंडर के रूप में भी सामने आ रहे हैं जिसे भारत लंबे समय से खोज रहा था।चेन्नई में उनकी पारी ने भारत की ही मदद नहीं की बल्कि इससे ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर एडम जम्पा के मनोबल पर भी काफी खराब असर प़डा। यह भी देखना होगा कि ऑस्ट्रेलिया के स्पिनर भारत के मजबूत बल्लेबाजी लाइन अप को कैसे चुनौती देते है। उनके पास ग्लेन मैक्सवेल, ट्रेविस और एशटन के रूप में कामचलाऊ स्पिनर भी हैं। जम्पा ने कहा, हमारे आक्रमण में काफी वैरिएशन है लेकिन बस यह रणनीति लागू करने की बात है। ऑस्ट्रेलिया में आप अपनी लेंथ में थो़डा फेरबदल कर सकते हो और आप शायद मैदान के आकार से बच भी जाते हो। लेकिन लेंथ काफी अहम है। कप्तान स्टीव स्मिथ के लिए भी यह काफी चुनौतीपूर्ण समय है जिन्हें बेहतरीन तरीके से नेतृत्व करने की जरूरत है। डेविड वार्नर को भी आक्रामक खेलकर अच्छी नींव रखनी होगी।चेन्नई में शीर्ष क्रम में हिल्टन कार्टराइट के प्रदर्शन को देखते हुए ट्रेविस हेड को सलामी बल्लेबाज का स्थान देना गलत फैसला नहीं होगा। हेड ने बोर्ड अध्यक्ष एकादश के खिलाफ अभ्यास मैच में १०३ रन की जीत के दौरान ६५ रन की पारी खेली। अगर हेड पारी का आगाज करते हैं तो ग्लेन मैक्सवेल या मार्कस स्टोईिनस चौथे नंबर का स्थान भरने के लिए उपलब्ध होंगे जहां वे पहले ही छह खिलाि़डयों को आजमा चुके हैं। ऑस्ट्रेलियाई टीम अपने आल राउंडर जेम्स फाकनर, स्टोईिनस और मैक्सवेल से भी अच्छे योगदान की उम्मीद रखेगी। भारतीय बल्लेबाजी के लिए यह अच्छा संकेत है कि शीर्ष क्रम के विफल होने के बाद निचला क्रम भी चुनौती पेश कर रहा है। धोनी जहां शानदार फार्म में थे, वहीं भुवनेश्वर कुमार को ३० गेंद में नाबाद ३२ रन की पारी खेलते हुए देखना शानदार था। टीम सलामी बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे और रोहित शर्मा से मजबूत शुरुआत की उम्मीद करेगी जबकि कप्तान विराट कोहली भी चेन्नई में विफल होने के बाद रन जुटाने की कोशिश करेंगे। कोहली ने इस साल वनडे में १९ पारियों में चार शतक और छह अर्धशतकों से १०१७ रन जुटाये हैं। भारत और ऑस्ट्रेलिया २००३ नवंबर में टीवीएस कप फाइनल के बाद दूसरा वनडे खेलेंगे लेकिन बारिश की भविष्यवाणी से इस मुकाबले का भी मजा किरकिरा हो सकता है।टीमें इस प्रकार हैं: भारत : विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, मनीष पांडे, केदार जाधव, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमरा, लोकेश राहुल, रविंद्र जडेजा, उमेश यादव और मोहम्मद शमी।ऑस्ट्रेलिया : स्टीव स्मिथ (कप्तान), डेविड वार्नर, हिल्टन कार्टराइट, मैथ्यू वेड (विकेटकीपर), नाथन कूल्टर नाइल, पैट कमिंस, जेम्स फाकनर, पीटर हैंड्सकोंब, ट्रेविस हेड, ग्लेन मैक्सवेल, एडम जम्पा, केन रिचर्डसन, मार्कस स्टोईिनस और आरोन फिंच।मैच भारतीय समयानुसार दोपहर एक बजकर ३० मिनट पर शुरू होगा।

LEAVE A REPLY