ज्योतिरादित्य सिंधिया
ज्योतिरादित्य सिंधिया

नई दिल्ली/भाषा। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 की अधिकतर धाराएं हटाए जाने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेश में बांटे जाने के सरकार के कदम का समर्थन करते हुए कहा कि यह राष्ट्रहित में लिया गया निर्णय है।

साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इस कदम के लिए अगर संवैधानिक प्रक्रिया का पूरी तरह पालन किया जाता तो बेहतर होता।

सिंधिया ने ट्वीट कर कहा, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को लेकर उठाए गए कदम और भारत देश में उनके पूर्ण रूप से एकीकरण का मैं समर्थन करता हूं। संवैधानिक प्रक्रिया का पूर्ण रूप से पालन किया जाता तो बेहतर होता। लेकिन ये फैसला राष्ट्रहित में लिया गया है और मैं इसका समर्थन करता हूं।

वैसे, सिंधिया से पहले दीपेंद्र हुड्डा, रंजीत रंजन और अदिति सिंह सहित पार्टी के कई नेता जम्मू-कश्मीर पर उठाए गए नरेंद्र मोदी सरकार के कदम का समर्थन कर चुके हैं।

दूसरी तरफ, कांग्रेस का अधिकारिक रुख इस कदम के विरोध में है। उसका आरोप है कि सरकार ने संवैधानिक प्रक्रियाओं का पालन नहीं किया है। पार्टी ने संसद में विधेयक का विरोध किया है।

गौरतलब है कि संसद ने मंगलवार को जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा संबंधी अनुच्छेद-370 के अधिकतर प्रावधानों को समाप्त करने के प्रस्ताव संबंधी संकल्प और जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर तथा लद्दाख में विभाजित करने वाले विधेयक को मंजूरी दे दी।

LEAVE A REPLY