मिग 21 लड़ाकू विमान
मिग 21 लड़ाकू विमान

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। भारतीय ​वायुसेना के पायलट को हिरासत में लेने के बाद पाकिस्तान नापाक पैंतरे आजमाने की कोशिश कर रहा है। वहीं, भारत ने दो टूक कह दिया है कि पायलट की सुरक्षित और तुरंत रिहाई के लिए कोई सौदेबाजी नहीं होगी। भारत के सख्त रुख से घबराया पाक चाहता है कि पायलट का मुद्दा उठाकर वह संभावित कार्रवाई से बच जाए। भारत ने स्पष्ट कहा है कि वायुसेना के पायलट को फौरन रिहा किया जाए।

पीटीआई के ​हवाले से प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, सरकारी सूत्रों ने कहा है कि किसी भी किस्म की डील का कोई सवाल ही नहीं उठता। भारत ने जोर देकर कहा है कि नई दिल्ली को पाकिस्तान स्थित आतंकी तत्वों के खिलाफ तुरंत, विश्वास करने योग्य और सत्यापन योग्य कार्रवाई की प्रतीक्षा है।

उल्लेखनीय है कि विदेश मंत्रालय ने बुधवार को ही पाकिस्तानी राजनयिक को तलब कर कड़ा विरोध दर्ज कराया। साथ ही पुलवामा आतंकी हमले में जैश-ए-मोहम्मद की भूमिका होने के संबंध में डोजियर दिया। भारत के पास इस बात के पुख्ता प्रमाण हैं कि पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले में जैश का हाथ है। इस आतंकी संगठन का शीर्ष नेतृत्व पाकिस्तान में है जो अन्य आतंकियों को प्रशिक्षण देकर भारत के खिलाफ तैयार करता है।

सरकारी सूत्रों के अनुसार, भारत की ओर से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की प्रेसवार्ता पर भी सवाल उठाए गए हैं। इमरान ने दावा किया था कि भारतीय वायुसेना के दो विमान पाकिस्तानी फौज ने गिराए हैं। इस पर कहा गया, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने यह क्यों कहा कि दो विमान गिराए गए हैं? क्या उन्हें जानकारी नहीं दी गई थी या उन्होंने झूठ बोला? पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाक के बालाकोट में जैश के सैकड़ों आतंकियों को मार गिराया था।

LEAVE A REPLY

3 − 1 =