भूपेंद्र पटेल भाजपा विधायक दल के नेता चुने गए, बने रहेंगे मुख्यमंत्री

पटेल को सर्वसम्मति से विधायक दल का नेता घोषित किया गया

भूपेंद्र पटेल भाजपा विधायक दल के नेता चुने गए, बने रहेंगे मुख्यमंत्री

पिछले साल सितंबर में उन्हें विजय रूपाणी की जगह मुख्यमंत्री बनाया गया था

गांधीनगर/भाषा। गुजरात में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नवनिर्वाचित विधायकों ने शनिवार को हुई बैठक में भूपेंद्र पटेल को पार्टी के विधायक दल का नेता चुना और वे दूसरी बार भी राज्य के मुख्यमंत्री बने रहेंगे।

पार्टी के प्रदेश मुख्यालय 'कमलम' में हुई बैठक में पटेल को सर्वसम्मति से विधायक दल का नेता घोषित किया गया।

भाजपा ने एक बयान में कहा, नवनिर्वाचित विधायक आज 'कमलम' में मिले, जहां भूपेंद्र पटेल को गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में नामित करने के प्रस्ताव को सर्वसम्मति से मंजूरी दी गई।

पटेल ने शुक्रवार को अपने पूरे मंत्रिमंडल के साथ राज्य में नई सरकार के गठन का मार्ग प्रशस्त करने के लिए इस्तीफा दे दिया था। राज्य में भाजपा ने विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज की है।

विधायक दल की बैठक में केंद्रीय पर्यवेक्षकों के तौर पर भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह, बीएस येडियुरप्पा और अर्जुन मुंडा मौजूद रहे।

पटेल ने इस साल के चुनाव में अहमदाबाद जिले की घाटलोडिया विधानसभा सीट से लगातार दूसरी बार 1.92 लाख मतों से जीत हासिल की। पिछले साल सितंबर में उन्हें विजय रूपाणी की जगह मुख्यमंत्री बनाया गया था।

गुजरात की 182 विधानसभा सीट में से 156 सीट हासिल कर भाजपा ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 99 सीट मिली थीं।

पार्टी पहले ही ऐलान कर चुकी है कि नई सरकार का शपथग्रहण समारोह 12 दिसंबर को होगा। समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ-साथ भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी मौजूद रहेंगे।

भाजपा के प्रदेश प्रमुख सीआर पाटिल ने कहा था कि भूपेंद्र पटेल मुख्यमंत्री बने रहेंगे और नई सरकार का शपथग्रहण समारोह सोमवार को गांधीनगर के हेलीपैड ग्राउंड में होगा।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि सपा सरकार में माफिया गरीबों की जमीनों पर कब्जा करता था
केजरीवाल का शाह से सवाल- क्या दिल्ली के लोग पाकिस्तानी हैं?
किसी युवा को परिवार छोड़कर अन्य राज्य में न जाना पड़े, ऐसा ओडिशा बनाना चाहते हैं: शाह
बेंगलूरु हवाईअड्डे ने वाहन प्रवेश शुल्क संबंधी फैसला वापस लिया
जो काम 10 वर्षों में हुआ, उससे ज्यादा अगले पांच वर्षों में होगा: मोदी
रईसी के बाद ईरान की बागडोर संभालने वाले मोखबर कौन हैं, कब तक पद पर रहेंगे?
'न चुनाव प्रचार किया, न वोट डाला' ... भाजपा ने इन वरिष्ठ नेता को दिया 'कारण बताओ' नोटिस