क्या है पहला आर्मी सिनर्जिया कॉन्क्लेव, जिसका आयोजन बेंगलूरु में हुआ?

समारोह का आयोजन दक्षिण भारत क्षेत्र द्वारा लेफ्टिनेंट जनरल केएस बराड़ के नेतृत्व में किया गया

क्या है पहला आर्मी सिनर्जिया कॉन्क्लेव, जिसका आयोजन बेंगलूरु में हुआ?

100 से ज्यादा उद्यमों ने अपने उत्पाद प्रदर्शित किए

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। सदर्न स्टार आर्मी एकेडमिक इंडस्ट्री इंटरफेस (एस2 ए2 आई2) बेंगलूरु 2024 का उद्घाटन दक्षिणी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ लेफ्टिनेंट जनरल एके सिंह ने चोपड़ा ऑडिटोरियम, एएससी कॉलेज और सेंटर में किया।

समारोह का आयोजन दक्षिण भारत क्षेत्र द्वारा लेफ्टिनेंट जनरल केएस बराड़ के नेतृत्व में किया गया। समारोह में सशस्त्र बलों के वरिष्ठ अधिकारी, अकादमिक और उद्योग जगत के प्रमुख लोग शामिल हुए।

एनएसएबी के अध्यक्ष, राजदूत पीएस राघवन, भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान के चांसलर प्रोफेसर बीएन सुरेश ने विशेष भाषण दिया।

वहीं, 100 से ज्यादा उद्यमों ने अपने उत्पाद प्रदर्शित किए। समारोह में रमैया विश्वविद्यालय और क्राइस्ट विश्वविद्यालय जैसे प्रमुख शैक्षणिक संस्थानों के विद्यार्थियों ने भाग लिया।

अपने संबोधन में लेफ्टिनेंट जनरल एके सिंह ने बेंगलूरु में रक्षा विनिर्माण के लिए पारिस्थितिकी तंत्र के विशाल अवसरों पर प्रकाश डाला।

लेफ्टिनेंट जनरल केएस बराड़ ने सेना की विभिन्न एजेंसियों से जुड़ने के लिए एमएसएमई और स्टार्टअप के लिए उपलब्ध विभिन्न विकल्पों के बारे में जानकारी दी।

यह तीन दिवसीय कार्यक्रम पहले चेन्नई, पुणे और हैदराबाद में आयोजित ऐसे कार्यक्रमों के सिलसिले का हिस्सा है। इसी तरह का एक आयोजन मई के आखिरी हफ्ते में कोयंबटूर में भी प्रस्तावित है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

अंजलि हत्याकांड: कर्नाटक के गृह मंत्री ने परिवार को इन्साफ मिलने का भरोसा दिलाया अंजलि हत्याकांड: कर्नाटक के गृह मंत्री ने परिवार को इन्साफ मिलने का भरोसा दिलाया
Photo: DrGParameshwara FB page
तृणकां-कांग्रेस मिलकर घुसपैठियों के कब्जे को कानूनी बनाना चाहती हैं: मोदी
अहमदाबाद: आईएसआईएस के 4 'आतंकवादियों' की गिरफ्तारी के बारे में गुजरात डीजीपी ने दी यह जानकारी
5 महीने चलीं उन फांसियों का रईसी से भी था गहरा संबंध! इजराइली मीडिया ने ​फिर किया जिक्र
ईरानी राष्ट्रपति का निधन, अब कौन संभालेगा मुल्क की बागडोर, कितने दिनों में होगा चुनाव?
बेंगलूरु में रेव पार्टी: केंद्रीय अपराध शाखा ने छापेमारी की तो मिलीं ये चीजें!
ओडिशा को विकास की रफ्तार चाहिए, यह बीजद की ढीली-ढाली नीतियों वाली सरकार नहीं दे सकती: मोदी