नए पंबन पुल का निर्माण कार्य जोरों पर

यह 2,070 मीटर लंबा वर्टिकल लिफ्ट समुद्री पुल है

नए पंबन पुल का निर्माण कार्य जोरों पर

तमिलनाडु के रामेश्वरम में मौजूदा पंबन ब्रिज के समानांतर बनाया जा रहा है

चेन्नई/दक्षिण भारत। नए पंबन पुल का निर्माण कार्य जोरों पर है। यह 2,070 मीटर लंबा वर्टिकल लिफ्ट समुद्री पुल है, जो तमिलनाडु के रामेश्वरम में मौजूदा पंबन ब्रिज के समानांतर बनाया जा रहा है। यह संरचना भारत का पहला वर्टिकल लिफ्ट समुद्री पुल होगी। नए पुल में समुद्र के पार 100 स्पैन होंगे, जिनमें से 99 स्पैन 18.3 मीटर और एक 72.5 मीटर का होगा।

यह मौजूदा पुल से 3 मीटर ऊंचा होगा। भविष्य में दोहरीकरण को समायोजित करने के लिए दो ट्रैकों के लिए सबस्ट्रक्चर का निर्माण किया जा रहा है और सिंगल लाइन के लिए सुपरस्ट्रक्चर प्रदान किया जा रहा है। बीस फरवरी, 2019 को अनुदान 2018-19 की अनुपूरक मांगों के तहत पंबन पुल के पुनर्निर्माण को मंजूरी दी गई थी।

आरडीएसओ मानक तकनीकी आवश्यकता के अनुसार, समुद्र तट से पर्याप्त दूर, सत्तिरक्कुडी रेलवे स्टेशन पर फैब्रिकेशन कार्यशाला स्थापित की गई थी और इसे आरडीएसओ (अनुसंधान डिजाइन और मानक संगठन) द्वारा अनुमोदित किया गया था। एप्रोच स्पैन के लिए स्टील प्लेट गर्डर, नेविगेशनल स्पैन के लिए ओपन वेब गर्डर और टॉवर का निर्माण इस कार्यशाला में किया जा रहा है और फिर संयोजन और लॉन्चिंग के लिए ब्रिज साइट पर ले जाया जा रहा है।

इसलिए किया जा रहा नए पुल का निर्माण

- 110 साल पुराने पुल ने अपना जीवन पूरा कर लिया है।

- मौजूदा पुल का शेज़र स्पैन (डबल बास्क्यूल) पिछले कुछ वर्षों में खराब हो गया है।

- दो किमी लंबे पुल पर 10 किमी प्रति घंटे की स्थायी गति प्रतिबंधित है।

- लिफ्ट स्पैन के क्षतिग्रस्त हिस्सों की मरम्मत के लिए कई महीनों तक पुल पर यातायात को रोका गया था।

- शुरुआत में शेरज़र स्पैन को वर्टिकल लिफ्ट स्पैन से बदलने का निर्णय लिया गया।

काम की मौजूदा स्थिति

- 333 पाइल और 101 पाइल कैप्स वाली सभी उपसंरचनाएं पूरी हो चुकी हैं।

- सभी 99 एप्रोच गर्डर्स तैयार किए जा चुके हैं और 76 लॉन्च किए जा चुके हैं।

- लिफ्ट स्पैन की गति के बाद, शेष 23 स्पैन को पंबन छोर से लॉन्च किया जा रहा है।

- लिफ्ट स्पैन का निर्माण कर लिया गया है और इसे लॉन्च किया जा रहा है। 428 मीटर में से इसे 200 मीटर के लिए लॉन्च किया गया है।

- मंडपम छोर से 1.50 किमी तक ट्रैक को जोड़ा गया है और मालगाड़ी (ओएचई मास्ट्स के साथ बीएफआर) की आवाजाही का परीक्षण किया गया है।

- 0.60 किमी की शेष लंबाई का ट्रैक पंबन एंड से एप्रोच स्पैन की शुरुआत के साथ बिछाया जाएगा।

- पुल साल 2024 के आखिर से पहले पूरा हो जाएगा और रेल यातायात के लिए चालू कर दिया जाएगा।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

'हाई लाइफ ज्वेल्स' में फैशन के साथ नजर आएगी आभूषणों की अनूठी चमक 'हाई लाइफ ज्वेल्स' में फैशन के साथ नजर आएगी आभूषणों की अनूठी चमक
हाई लाइफ ज्वेल्स 100 से ज्यादा प्रीमियम आभूषण ब्रांड्स को एक छत के नीचे लाता है
एआरई एंड एम ने आईआईटी, तिरुपति में डॉ. आरएन गल्ला चेयर प्रोफेसरशिप की स्थापना के लिए एमओए किया
बजट में किफायती आवास को प्राथमिकता देने के लिए सरकार का दृष्टिकोण प्रशंसनीय: बिजय अग्रवाल
काठमांडू हवाईअड्डे पर उड़ान भरते समय विमान दुर्घटनाग्रस्त, 18 लोगों की मौत
बजट में मध्यम वर्ग और ग्रामीण आबादी को सशक्त बनाने पर जोर सराहनीय: कुमार राजगोपालन
बजट में कौशल विकास पर दिया गया खास ध्यान: नीरू अग्रवाल
भारत को बुलंदियों पर लेकर जाएगी अंतरिक्ष अर्थव्यवस्था: अनिरुद्ध ए दामानी