विपक्षी 23 वर्षों में मोदी पर 23 पैसे के भ्रष्टाचार का आरोप भी नहीं लगा पाए: शाह

अमित शाह ने बेंगलूरु में 'शक्ति केंद्र प्रमुख सम्मेलन' को संबोधित किया

विपक्षी 23 वर्षों में मोदी पर 23 पैसे के भ्रष्टाचार का आरोप भी नहीं लगा पाए: शाह

शाह ने कहा कि मोदी ने पारदर्शिता के साथ काम करके एक उदाहरण पेश किया है

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को बेंगलूरु में 'शक्ति केंद्र प्रमुख सम्मेलन' को संबोधित किया। इस अवसर पर उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि एक तरफ हम, प्रधानमंत्री मोदी के शानदार और मजबूत नेतृत्व में चुनाव लड़ रहे हैं। दूसरी ओर 'परिवारवादी' और भ्रष्ट इंडि गठबंधन मैदान में है।

शाह ने कहा कि मैं देशभर के लगभग 60 प्रतिशत राज्यों का दौरा कर चुका हूं और जहां भी मैं गया, मैंने लोगों को 'मोदी, मोदी, मोदी' कहते हुए सुना। नरेंद्र मोदी ने 23 साल तक मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के रूप में कार्य किया है। इन 23 वर्षों में विपक्षी, मोदी पर 23 पैसे के भ्रष्टाचार का आरोप भी नहीं लगा पाए हैं। मोदी ने पारदर्शिता के साथ काम करके एक उदाहरण पेश किया है।

शाह ने कहा कि मैं पिछले दो चुनावों के दौरान कर्नाटक के लोगों को उनके प्यार और समर्थन के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। साल 2014 में भाजपा ने कर्नाटक में 43 प्रतिशत वोट हासिल करते हुए 17 सीटें जीतीं। साल 2019 में, भाजपा ने कर्नाटक में 51 प्रतिशत वोट प्राप्त करते हुए 25 सीटें जीतीं। इस बार, मैं कर्नाटक के लोगों से अनुरोध करता हूं कि वे हमें कर्नाटक की सभी 28 सीटों पर आशीर्वाद दें।

शाह ने कहा कि 23 साल तक मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री रहने वाला पूरी दुनिया में एक ही व्यक्ति है, जिसने एक भी छुट्टी लिए बिना भारत की जनता की सेवा की है। तो वहीं दूसरी ओर राहुल बाबा हैं, जो गर्मी आते ही विदेश चले जाते हैं और पूरी कांग्रेस छह महीने इन्हें ढूंढ़ती रह जाती है।

शाह ने कहा कि संसद में राहुल बाबा कहते थे, जम्मू कश्मीर से धारा-370 मत हटाओ, खून की नदियां बह जाएंगी। पांच अगस्त, 2019 को मोदी ने धारा-370 को हटा दिया। राहुल बाबा, यह मोदी सरकार है। खून की नदियां छोड़ो, किसी की कंकड़ चलाने की भी हिम्मत नहीं हुई।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

ज़िंदगी से खिलवाड़ ज़िंदगी से खिलवाड़
भारत में हर साल बड़ी तादाद में हादसे होते हैं, जिनमें बहुत लोग जान गंवाते हैं
'इंडि' गठबंधन के पक्ष में जन समर्थन की एक अदृश्य लहर है: खरगे का दावा
आज का भारत मोदी के नेतृत्व में न तो किसी के पास गिड़गिड़ाता है, न ही पिछलग्गू है: नड्डा
अदालत ने कविता को 15 अप्रैल तक सीबीआई हिरासत में भेजा
मोदी का आरोप- कांग्रेस की सोच विकास विरोधी, ये सीमावर्ती गांवों को 'आखिरी गांव' कहते हैं
नरम पड़े मालदीव के तेवर, भारत से आयात के लिए स्थानीय मुद्रा में भुगतान को लेकर कर रहा बात
ठगों से सावधान: आरबीआई में नौकरी के नाम लगा दिया 2 करोड़ रु. से ज्यादा का चूना