प्रधानमंत्री ने गगनयान मानव अंतरिक्ष उड़ान मिशन के यात्रियों के नामों की घोषणा की

उन्होंने उन्हें 'एस्ट्रोनॉट विंग्स' प्रदान किए

प्रधानमंत्री ने गगनयान मानव अंतरिक्ष उड़ान मिशन के यात्रियों के नामों की घोषणा की

Photo: @BJP4India X account

तिरुवनंतपुरम/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उन चार अंतरिक्ष यात्रियों के नामों की घोषणा की, जो देश के पहले मानव अंतरिक्ष उड़ान मिशन, गगनयान के लिए प्रशिक्षण ले रहे हैं।

मोदी ने केरल के थुंबा में विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र (वीएसएससी) में कहा कि चार अंतरिक्ष यात्री- प्रशांत बालाकृष्णन नायर, अंगद प्रताप, अजीत कृष्णन और शुभांशु शुक्ला हैं।

उन्होंने उन्हें 'एस्ट्रोनॉट विंग्स' प्रदान किए।

प्रधानमंत्री भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की तीन प्रमुख तकनीकी सुविधाओं का उद्घाटन करने के लिए वीएसएससी में थे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम सभी आज एक ऐतिहासिक सफर के साक्षी बन रहे हैं। अब से कुछ देर पहले देश पहली बार अपने 4 गगनयान यात्रियों से परिचित हुआ। ये सिर्फ 4 नाम और 4 इंसान नहीं हैं, ये 140 करोड़ आकांक्षाओं को स्पेस में ले जाने वाली 4 शक्तियां हैं। चालीस वर्ष के बाद कोई भारतीय अंतरिक्ष में जाने वाला है। लेकिन इस बार टाइम भी हमारा है, काउंटडाउन भी हमारा है और रॉकेट भी हमारा है।

उन्होंने कहा कि मुझे ये जानकर बहुत अच्छा लगा कि गगनयान में इस्तेमाल होने वाले ज्यादातर उपकरण 'मेड इन इंडिया' है। यह कितना बड़ा संयोग है कि जब भारत दुनिया की टॉप 3 अर्थव्यवस्था बनने के लिए उड़ान भर रहा है, उसी समय भारत का गगनयान भी हमारे अंतरिक्ष क्षेत्र को एक नई बुलंदी पर के जाने वाला है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

ज़िंदगी से खिलवाड़ ज़िंदगी से खिलवाड़
भारत में हर साल बड़ी तादाद में हादसे होते हैं, जिनमें बहुत लोग जान गंवाते हैं
'इंडि' गठबंधन के पक्ष में जन समर्थन की एक अदृश्य लहर है: खरगे का दावा
आज का भारत मोदी के नेतृत्व में न तो किसी के पास गिड़गिड़ाता है, न ही पिछलग्गू है: नड्डा
अदालत ने कविता को 15 अप्रैल तक सीबीआई हिरासत में भेजा
मोदी का आरोप- कांग्रेस की सोच विकास विरोधी, ये सीमावर्ती गांवों को 'आखिरी गांव' कहते हैं
नरम पड़े मालदीव के तेवर, भारत से आयात के लिए स्थानीय मुद्रा में भुगतान को लेकर कर रहा बात
ठगों से सावधान: आरबीआई में नौकरी के नाम लगा दिया 2 करोड़ रु. से ज्यादा का चूना