बैंक ऑफ इंडिया ने 1,458 करोड़ रु. का शुद्ध लाभ दर्ज किया

वित्त वर्ष 2023 की दूसरी तिमाही में 960 करोड़ रु. था

बैंक ऑफ इंडिया ने 1,458 करोड़ रु. का शुद्ध लाभ दर्ज किया

परिचालन लाभ में वर्ष-दर-वर्ष आधार पर 11 प्रतिशत का सुधार हुआ

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। बैंक ऑफ इंडिया ने वित्त वर्ष 2024 की दूसरी तिमाही में 1,458 करोड़ रु. का शुद्ध लाभ दर्ज किया है, जो वित्त वर्ष 2023 की दूसरी तिमाही में 960 करोड़ रु. था। परिचालन लाभ में वर्ष-दर-वर्ष आधार पर 11 प्रतिशत का सुधार हुआ। यह वित्त वर्ष 2024 की दूसरी तिमाही में 3,756 करोड़ रु. रहा, जो वित्त वर्ष 2023 की दूसरी तिमाही में 3,374 करोड़ रु. था। 

शुद्ध ब्याज आय (एनआईआई) में वर्ष-दर-वर्ष आधार पर 13 प्रतिशत का सुधार हुआ और वित्त वर्ष 2024 की दूसरी तिमाही में यह 5,740 करोड़ रु. रही, जो वित्त वर्ष 2023 की दूसरी तिमाही में 5,083 करोड़ रु. थी। गैर-ब्याज आय में वर्ष-दर-वर्ष आधार पर 19 प्रतिशत का सुधार हुआ और वित्त वर्ष 2024 की दूसरी तिमाही में यह 1,688 करोड़ रु. रही, जो वित्त वर्ष 2023 की दूसरी तिमाही में 1,417 करोड़ रु. थी।

एनआईएम (ग्लोबल) वित्त वर्ष 2024 की दूसरी तिमाही में वर्ष-दर-वर्ष आधार पर 4 आधार अंक सुधरकर 3.08 प्रतिशत हो गया, जो वित्त वर्ष 2023 की दूसरी तिमाही में 3.04 प्रतिशत था। सकल एनपीए तिमाही-दर-तिमाही 8.28 प्रतिशत कम होकर जून 2023 में 34,582 करोड़ रु. से सितंबर 2023 में 31,719 करोड़ रु. हो गया। 

ग्राहक अब शाखा में जाए बिना ही एसबी खाते खोल सकते हैं और ऋण प्राप्त कर सकते हैं। इस वर्ष की दूसरी और तीसरी तिमाही में बैंक 15 से भी ज्यादा अतिरिक्‍त डिजिटल उत्पाद लॉन्‍च करने वाला है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

'मेक-इन इंडिया' के सपने को साकार करने में एचएएल की बहुत बड़ी भूमिका: रक्षा राज्य मंत्री 'मेक-इन इंडिया' के सपने को साकार करने में एचएएल की बहुत बड़ी भूमिका: रक्षा राज्य मंत्री
उन्होंने एचएएल के शीर्ष प्रबंधन को संबोधित किया
हर साल 4000 से ज्यादा विद्यार्थियों को ऑटोमोटिव कौशल सिखा रही टाटा मोटर्स की स्किल लैब्स पहल
भोजशाला: सर्वेक्षण के खिलाफ याचिका सूचीबद्ध करने पर विचार के लिए उच्चतम न्यायालय सहमत
इमरान ख़ान की पार्टी पर प्रतिबंध लगाएगी पाकिस्तान सरकार!
भोजशाला मामला: एएसआई ने सर्वेक्षण रिपोर्ट मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय को सौंपी
उच्चतम न्यायालय ने सीबीआई की एफआईआर को चुनौती देने वाली शिवकुमार की याचिका खारिज की
ईश्वर ही था, जिसने अकल्पनीय घटना को रोका, अमेरिका को एकजुट करें: ट्रंप