चेन्नई हवाई अड्डे के दूसरे चरण के कार्य की आधारशिला रखेंगे मोदी

चेन्नई हवाई अड्डे के दूसरे चरण के कार्य की आधारशिला रखेंगे मोदी

चेन्नई/दक्षिण भारतप्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जल्द ही चेन्नई हवाई अड्डे के दूसरे चरण की परियोजना की आधारशिला रखेंगे। श्रीपेरंबुदूर के सांसद एन रामचंद्रन द्वारा प्रधान मंत्री को इस संबंध में एक निमंत्रण दिया गया है। रामचंद्रन ने यहां पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताया कि मोदी ने आधारशिला समारोह में आने का आश्वासन दे दिया है। उन्होंने बताया हालांकि हमंे केवल प्रधान मंत्री कार्यालय से मिलने का समय मिला था लेकिन प्रधानमंत्री ने अपने कार्यालय में निमंत्रण मिलने के बाद कार्यालय कर्मचारियों से हमें ढूंढने के लिए कहा और हमें व्यक्तिगत रुप से मिलने का समय भी देने का निर्देश दिया। चेन्नई हवाईअड्डा के दूसरे चरण का कार्य बुधवार को एल एंड टी द्वारा शुरू किया जाएगा। ज्ञातव्य है कि इस परियोजना के लिए एल एंड टी को करार दिया गया है। भारतीय हवाईअड्डा प्राधिकरण (एएआई)के चेन्नई मुख्यालय और एल एंड टी के बीच पिछले महीने पहले इस परियोजना के लिए आपसी करार के मसौदे पर हस्ताक्षर हुए थे। हाल ही में, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने हवाई अड्डे के दूसरे चरण के आधुनिकीकरण के लिए पर्यावरण मंजूरी दे दी है। पर्यावरण मंजूरी का अनुरोध इस वर्ष १८ मई को किया गया था जिसके बाद प्रस्ताव २२ मई को स्वीकार किया गया और इसके बाद, परियोजना के लिए स्वीकृति २६ जून को दी गई। पर्यावरण मंत्रालय की एक विशेषज्ञ मूल्यांकन समिति (ईएसी) ने ३० मई को आयोजित बैठक के दौरान इस परियोजना को मंजूरी दी थी। इस परियोजना के तहत हवाईअड्डे परिसर में १,३०१.२८ एक़ड पर विभिन्न प्रकार की सुविधाओं का निर्माण किया जाएगा। ज्ञातव्य है कि यह जमीन मौजूदा समय में एएआई के अधीन है जिसे राज्य सरकार द्वारा अधिग्रहित करने के बाद सौंपा गया है। यह परियोजना ४२ महीने में पूरा होने की उम्मीद है। परियोजना को कई चरणों में पूरा किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि इस परियोजना के तहत पुराने टी २ और टी ३ टर्मिनल को पूरी तरह से ढहाकर उनका पुनर्निर्माण किया जाएगा। दोनों टर्मिनलों को जो़डने के लिए एक एयरसाइड कोरीडोर का दोबारा निर्माण किया जाएगा। सेटेलाइट टर्मिनल से सुरंग के माध्यम से नए टर्मिनल को जो़डा जाएगा। बहु स्तरीय कार पार्किंग लॉट का निर्माण किया जाएगा। इसी परियोजना के तहत मीनमबाक्कम में मौजूद पुराने टर्मिनल को ध्वस्त करने के बाद एकीकृत आम उपयोगकर्ता कार्गो कॉम्प्लेक्स का निर्माण किया जाएगा और ‘ई’’ श्रेणी के कार्गो मालवाहक विमानों के लिए एक बे का निर्माण करने की भी योजना है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में भारत में दूध उत्पादन में करीब 60 प्रतिशत वृद्धि हुई है
ईडी ने अरविंद केजरीवाल को नया समन जारी किया
सीबीआई ने सत्यपाल मलिक के परिसरों सहित 30 से अधिक स्थानों पर छापे मारे
निवेश पर उच्च रिटर्न का वादा कर एक शख्स से 1.19 करोड़ रु. ठगे
नशे की प्रवृत्ति पर लगाम जरूरी
कर्नाटक सरकार ने अधिवक्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी पर उप-निरीक्षक को निलंबित किया
'हार रहे उम्मीदवारों को जिताया' ... पाक के चुनावों में 'धांधली' के आरोपों पर क्या बोला अमेरिका?