हम कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से निपटने में सहयोग करने को सहमत हुए: ट्रंप

हम कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से निपटने में सहयोग करने को सहमत हुए: ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

भारत और अमेरिका ने तीन समझौतों पर किए हस्ताक्षर

नई दिल्ली/भाषा। भारत और अमेरिका ने मंगलवार को तीन समझौता पत्रों पर हस्ताक्षर किए जिसमें से एक समझौता ऊर्जा क्षेत्र से संबंधित है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जोर देकर कहा कि दोनों देशों ने अपने संबंधों को समग्र वैश्विक सामरिक गठजोड़ के स्तर पर ले जाने का निर्णय लिया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप का ऐतिहासिक और भव्य स्वागत हमेशा याद रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि अमेरिका और भारत के संबंध सिर्फ दो सरकारों के बीच नहीं हैं, बल्कि लोक केंद्रित हैं। उन्होंने कहा कि यह संबंध, 21वीं सदी का सबसे महत्वपूर्ण गठजोड़ है।

मोदी ने कहा, ‘राष्ट्रपति ट्रंप ने मादक पदार्थ और इससे जुड़ी समस्याओं से लड़ाई को प्राथमिकता दी है। आज हमारे बीच मादक पदार्थों की तस्करी, मादक पदार्थ से जुड़े आतंकवाद और संगठित अपराध जैसी गंभीर समस्याओं के बारे में एक नए तंत्र पर भी सहमति बनी।’

प्रधानमंत्री ने कहा कि आतंकवाद के समर्थकों को जिम्मेदार ठहराने के लिए आज हमने अपने प्रयासों को और आगे बढ़ाने का निश्चय किया है। उन्होंने कहा, ‘आज राष्ट्रपति ट्रंप और मैंने हमारे संबंधों को समग्र वैश्विक सामरिक गठजोड़ के स्तर पर ले जाने का निर्णय लिया है।’

प्रधानमंत्री मोदी ने संयुक्त संवाददाता संबोधन में कहा कि कुछ ही समय पहले स्थापित हमारा सामरिक ऊर्जा गठजोड़ सुदृढ़ होता जा रहा है और इस क्षेत्र में आपसी निवेश बढ़ा है। राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि उनके लिए यह यात्रा अविस्मरणीय, असाधारण और सार्थक रही। ‘हमने तीन अरब डॉलर के रक्षा समझौतों को अंतिम रूप दिया।’

https://platform.twitter.com/widgets.js

उन्होंने कहा, ‘हम कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से निपटने में सहयोग करने को सहमत हुए। हमने 5जी दूरसंचार प्रौद्योगिकी, हिंद-प्रशांत में स्थिति पर भी चर्चा की।’

दूसरी ओर, मोदी ने कहा कि तेल और गैस के लिए अमेरिका भारत का एक बहुत महत्वपूर्ण स्रोत बन गया है। उन्होंने कहा, ‘उद्योग 4.0 और 21वीं शताब्दी की अन्य उभरती प्रौद्योगिकी पर भी भारत अमेरिका गठजोड़, नवोन्मेष और उद्यमिता के नए मुक़ाम स्थापित कर रहा है।’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘भारतीय पेशेवरों की प्रतिभा ने अमरीकी कंपनियों के प्रौद्योगिकी नेतृत्व को मजबूत किया है। वैश्विक स्तर पर भारत और अमेरिका का सहयोग हमारे समान लोकतांत्रिक मूल्यों और उद्देश्यों पर आधारित है। ख़ासकर हिंद प्रशांत क्षेत्र में नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के लिए यह सहयोग विशेष महत्व रखता है।’

मोदी ने कहा, ‘भारत और अमेरिका की इस विशेष मित्रता की सबसे महत्वपूर्ण नींव हमारे लोगों से लोगों के बीच संबंध हैं। चाहे वो पेशेवर हों या छात्र हों, अमेरिका में भारतीय समुदाय का इस में सबसे बड़ा योगदान रहा है।’

इससे पहले, मीडिया के समक्ष संक्षिप्त टिप्पणी में प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति का स्वागत करते हुए भारत आने के लिए समय निकालने पर उनका आभार व्यक्त किया और उन्हें धन्यवाद दिया। राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि भारत में पिछले दो दिन शानदार रहे, विशेष तौर पर मोटेरा स्टेडियम का कार्यक्रम।

ट्रंप ने मीडिया के समक्ष मोदी से कहा, ‘यह मेरे लिये बड़े सम्मान की बात थी। स्टेडियम में करीब सवा लाख लोग थे, मैं समझता हूं कि वे मुझसे अधिक आपके लिए थे। जब भी मैं आपका नाम लेता था, लोगों की हर्षध्वनि सुनाई देती… लोग आपको बेहद पसंद करते हैं।’

दो दिवसीय भारत यात्रा पर आए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया का मंगलवार को यहां राष्ट्रपति भवन में पारंपरिक तरीके से भव्य स्वागत किया गया। ट्रंप ने राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में तीनों सेनाओं की मिलीजुली टुकड़ी की सलामी गारद का निरीक्षण किया।

राष्ट्रपति के तौर पर भारत की अपनी पहली यात्रा पर आए ट्रंप ने सलामी गारद का निरीक्षण करने के बाद राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के समाधि स्थल राजघाट जा कर उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

कांग्रेस को बड़ा झटका, इस सीट से उम्मीदवार का नामांकन पत्र हुआ खारिज कांग्रेस को बड़ा झटका, इस सीट से उम्मीदवार का नामांकन पत्र हुआ खारिज
Photo: @INCIndia X account
मोदी के नेतृत्व में अब वोटबैंक की नहीं, बल्कि रिपोर्ट कार्ड की राजनीति है: नड्डा
कभी विदेशों को जीतने के लिए आक्रमण नहीं किया, खुद में सुधार करके कमियों पर विजय पाई: मोदी
हुब्बली: नेहा की हत्या के आरोपी फैयाज के पिता ने कहा- ऐसी सजा मिलनी चाहिए, ताकि ...
पाकिस्तान में आतंकवादियों ने फ्रंटियर कोर के सैनिक और 2 सरकारी अधिकारियों की हत्या की
उच्च न्यायालय ने बीएच सीरीज वाहन पंजीकरण पर नई शर्तें लगाने वाले परिपत्र को रद्द किया
राहुल ने फिर उठाया 'जाति और आबादी' का मुद्दा, कहा- सरकार नहीं चाहती 'भागीदारी' बताना