विपक्ष के शक्ति प्रदर्शन के बीच कांग्रेस ने गहलोत को सौंपा राजस्थान का राज

विपक्ष के शक्ति प्रदर्शन के बीच कांग्रेस ने गहलोत को सौंपा राजस्थान का राज

ashok gehlot, gov. kalyan singh and sachin pilot

जयपुर। वरिष्ठ कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने सोमवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री पद शपथ ली। उन्हें राज्यपाल कल्याण सिंह ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। गहलोत तीसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने हैं। वे इससे पहले वर्ष 1998-2003 और 2008-2013 तक राजस्थान के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। जयपुर के मशहूर अल्बर्ट हॉल में शपथ ग्रहण समारोह हुआ। इस दौरान सचिन पायलट ने भी उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

समारोह के लिए प्रशासन ने बड़े स्तर पर तैयारियां की थीं। इस मौके पर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह सहित कांग्रेस और विपक्ष के कई दिग्गज नेता मौजूद थे। समारोह में शामिल होने के लिए देश के विभिन्न राज्यों से नेता विशेष विमानों के जरिए जयपुर पहुंचे। ​इसके अलावा समारोह में बड़ी तादाद में कांग्रेस कार्यकर्ता और आम नागरिक भी मौजूद थे। शहर में जगह-जगह सुरक्षा के विशेष प्रबंध किए गए।

अल्बर्ट हॉल में पहली बार किसी मुख्यमंत्री ने शपथ ली है। पिछली बार जब 2008 में गहलोत मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने राजभवन में आयोजित एक समारोह में शपथ ली थी। वहीं साल 2013 में वसुंधरा राजे ने जनपथ पर शपथ लेकर शासन की कमान संभाली थी। अल्बर्ट हॉल ब्रिटिश शासन काल में अंग्रेज अधिकारियों और राजा-महाराजाओं के दौर का गवाह रहा है। वहीं आज़ादी के बाद यहां नेहरू से लेकर वाजपेयी तक कई दिग्गज राजनेता आ चुके हैं।

अशोक गहलोत और सचिन पायलट शपथ लेते हुए।

गहलोत-पायलट के शपथ ग्रहण समारोह में विपक्षी राजनेताओं का जमावड़ा चर्चा का विषय बना हुआ है। माना जा रहा है कि इसके जरिए कांग्रेस आगामी लोकसभा चुनावों के लिए एकजुटता का संकेत देना चाहती है। इस तरह यह शपथ ग्रहण समारोह विपक्ष के शक्ति प्रदर्शन का मंच भी बना। हालांकि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा प्रमुख मायावती ने इस समारोह में शिरकत नहीं की। बताया गया कि वे मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में भी शपथ ग्रहण समारोह में नहीं आएंगे। समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भी मौजूद थीं।

चूंकि अगले साल लोकसभा चुनाव हैं। हाल में तीन राज्यों के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को विजय मिली है। कई राज्यों में शिकस्त के बाद इन नतीजों से कांग्रेस उत्साहित है। अब कांग्रेस-भाजपा के बीच आगामी लोकसभा चुनावों में जोरदार मुकाबले की तैयारियां चल रही हैं। इसी के लिए कांग्रेस अपने सहयोगियों को साधने की कवायद में जुटी है।

ये दिग्गज आए नजर
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, एचडी देवेगौड़ा, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी, वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खरगे, ज्योतिरादित्य सिंधिया, नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला, राकांपा के शरद पवार, लोकतांत्रिक जनता दल के शरद यादव, पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू, कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राजद नेता तेजस्वी यादव, द्रमुक नेता एमके स्टालिन, तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी सहित विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने समारोह में शिरकत की।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News