12 राज्यों से कोविड उप-संस्करण जेएन.1 के 819 मामले आए सामने, मरीजों में ये हैं लक्षण

भले ही जेएन.1 मामलों की संख्या बढ़ रही है, लेकिन तत्काल चिंता का कोई कारण नहीं है, क्योंकि ...

12 राज्यों से कोविड उप-संस्करण जेएन.1 के 819 मामले आए सामने, मरीजों में ये हैं लक्षण

Photo:PixaBay

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। देश के 12 राज्यों से सोमवार तक कोविड-19 सब-वेरिएंट जेएन.1 के कुल 819 मामले सामने आए हैं। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी है।

जानकारी के अनुसार, महाराष्ट्र से 250, कर्नाटक से 199, केरल से 148, गोवा से 49, गुजरात से 36, आंध्र प्रदेश और राजस्थान से 30-30 मामले सामने आए हैं। इसी तरह तमिलनाडु और तेलंगाना से 26-26, दिल्ली से 21, ओडिशा से तीन और हरियाणा से एक मामला सामने आया है।

भले ही जेएन.1 मामलों की संख्या बढ़ रही है, लेकिन तत्काल चिंता का कोई कारण नहीं है, क्योंकि संक्रमित लोगों में से अधिकांश घर-आधारित उपचार का विकल्प चुन रहे हैं, जो हल्की बीमारी का संकेत है।

देश में कोविड मामलों की संख्या में बढ़ोतरी और वायरस के जेएन.1 उप-संस्करण का पता चलने के बीच केंद्र ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से निरंतर निगरानी बनाए रखने को कहा है।

राज्यों से केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा उनके साथ साझा की गई संशोधित कोविड निगरानी रणनीति के लिए विस्तृत परिचालन दिशा-निर्देशों का प्रभावी अनुपालन सुनिश्चित करने का आग्रह किया गया है।

राज्यों को मामलों की बढ़ती प्रवृत्ति का शीघ्र पता लगाने के लिए सभी स्वास्थ्य सुविधाओं से इन्फ्लूएंजा जैसी बीमारी (आईएलआई) और गंभीर तीव्र श्वसन बीमारी (एसएआरआई) के जिलेवार मामलों की निगरानी करने और नियमित रूप से रिपोर्ट करने के लिए भी कहा गया है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने जेएन.1 को इसके तेजी से बढ़ते प्रसार को देखते हुए एक अलग 'रुचि के प्रकार' के रूप में वर्गीकृत किया है, लेकिन कहा है कि वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य जोखिम 'कम' है।

विश्व निकाय ने कहा कि कोरोना वायरस के जेएन.1 उप-संस्करण को पहले बीए.2.86 उप-वंश के हिस्से के रूप में एक प्रकार (वीओआई) के रूप में वर्गीकृत किया गया था।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News