हिप्र: इस गांव में जमीन धंसने से लोग हैरान, कई घरों में आ गईं दरारें

गांव के लगभग 70 निवासी खुले में सोने को मजबूर हैं

हिप्र: इस गांव में जमीन धंसने से लोग हैरान, कई घरों में आ गईं दरारें

ग्रामीणों ने कहा कि दरारों के कारण उनकी कृषि भूमि भी क्षतिग्रस्त हो गई है

शिमला/भाषा। हिमाचल प्रदेश के लाहौल और स्पीति जिले के लिंडुर गांव में जमीन धंसने के कारण 16 में से नौ घरों में दरारें आने के बाद निवासियों ने संकट के कारण का पता लगाने के लिए भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण की मांग की है।

गांव के लगभग 70 निवासी खुले में सोने को मजबूर हैं, क्योंकि उन्हें अपने घर गिरने का डर है। ग्रामीणों ने कहा कि दरारों के कारण उनकी कृषि भूमि भी क्षतिग्रस्त हो गई है।

गोहरमा ग्राम पंचायत की प्रधान सरिता ने कहा, जून/जुलाई में गांव की परिधि में दरारें देखी गईं तथा वे और चौड़ी हो गईं, जिससे घरों को खतरा हो गया। गांव के 16 में से नौ घरों में दरारें आ गई हैं और इनमें से चार को असुरक्षित घोषित कर दिया गया है।

उन्होंने कहा, पास के जहमला नाले से पानी का रिसाव, जिसमें हर साल बाढ़ आती है, दरारों के लिए जिम्मेदार हो सकता है, लेकिन इसका पता केवल भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण से ही लगाया जा सकता है। हमने अधिकारियों से क्षेत्र के भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण का अनुरोध किया है।

लाहौल और स्पीति के उपायुक्त राहुल कुमार ने कहा कि गांव में कुछ घरों में दरारें आ गई हैं और अधिकारियों ने मौके का दौरा किया है। उन्होंने कहा कि जिन ग्रामीणों के घरों में दरारें आ गई हैं, उन्हें सुरक्षित स्थानों पर जाने का विकल्प दिया गया है, लेकिन अभी तक कोई भी दूसरी जगह नहीं गया है।

कुमार ने कहा, स्थिति नियंत्रण में है, लेकिन ग्रामीण डरे हुए हैं। तहसीलदार को प्रभावित परिवारों को तत्काल राहत प्रदान करने का निर्देश दिया गया है।

उन्होंने कहा, हमने सरकार से दो से तीन पंचायत क्षेत्रों को प्रभावित करने वाली रिसाव की समस्या को दूर करने के लिए जहमला नाले का नहरीकरण सुनिश्चित करने का आग्रह किया है। जिला प्रशासन ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मंडी को भी अध्ययन करने और उपाय सुझाने के लिए लिखा है।

इस साल की शुरुआत में पड़ोसी उत्तराखंड के जोशीमठ में भी इसी तरह की स्थिति उत्पन्न हो गई थी, जब कई घरों, खेतों और सड़कों में बड़ी दरारें आ गईं थीं। इससे शहर में रहना असुरक्षित हो गया था और बड़ी संख्या में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाना पड़ा था।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

सेजल गुलिया ने कॉमनवेल्थ जूनियर और कैडेट फेंसिंग चैंपियनशिप में व्यक्तिगत कांस्य पदक जीता सेजल गुलिया ने कॉमनवेल्थ जूनियर और कैडेट फेंसिंग चैंपियनशिप में व्यक्तिगत कांस्य पदक जीता
बेंगलूरु/दक्षिण भारत। उभरती फेंसिंग स्टार सेजल गुलिया ने 12 से 19 जुलाई तक न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में आयोजित प्रतिष्ठित राष्ट्रमंडल...
क्राइस्टचर्च: कॉमनवेल्थ कैडेट फेंसिंग चैंपियनशिप में सेजल के दमदार प्रदर्शन के साथ भारत ने जीता रजत पदक
तटीय कर्नाटक में रेलवे विकास कार्यों में तेजी लाई जाएगी: केंद्रीय मंत्री सोमन्ना
ट्रंप पर हमले में ईरान का हाथ? जनरल सुलेमानी की हत्या होने के बाद खाई थी यह कसम!
कर्नाटक: वाल्मीकि निगम घोटाला मामले में ईडी ने पूर्व मंत्री नागेंद्र की पत्नी से पूछताछ की
बांग्लादेश में लगी आरक्षण आंदोलन की आग, झड़पों में कई लोगों की मौत
कई नेताओं ने छोड़ी अजित पवार की राकांपा, सु​प्रिया बोलीं- 'लोग बड़ी उम्मीदों से देख रहे'