डेल्टा क्षेत्र के किसानों के लिए कुरुवई सब्सिडी पैकेज की घोषणा

डेल्टा क्षेत्र के किसानों के लिए कुरुवई सब्सिडी पैकेज की घोषणा

चेन्नई। राज्य सरकार ने सोमवार को कावेरी डेल्टा क्षेत्र में स्थित राज्य के छह जिलों के लिए ५८.९२ करो़ड रुपए के कुरुवई फसल सब्सिडी पैकेज की घोषणा की। इस पैकेज में १.३२ लाख एक़ड जमीन पर धान की बुवाई के लिए तथा १.६ लाख एक़ड जमीन पर कम पानी से होने वाले फसलों की बुवाई के लिए सब्सिडी दी जाएगी। राज्य सरकार की ओर से यह निर्णय कावेरी डेल्टा क्षेत्र में पानी की आपूर्ति करने वाले मेट्टूर बांध में अपर्याप्त पानी होने के कारण लिया गया है।ज्ञातव्य है कि मेट्टूर बांध को कावेरी डेल्टा क्षेत्र का लाइफलाइन माना जाता है। यह लगातार पांचवी बार है जब राज्य सरकार ने कावेरी डेल्टा क्षेत्र के किसानों के लिए सब्सिडी की घोषणा की है। आम तौर पर मेट्टूर बांध से हर वर्ष १२ जून को पानी छो़डने का समय निर्धारित किया गया है लेकिन पिछले दो वर्षों से बांध में पर्याप्त पानी नहीं होने के कारण पानी १२ जून को नहीं छो़डा जा सका। इस वर्ष भी बांध से १२ जून से पानी नहीं छो़डा जा सका है। मौजूदा समय में बांध का जलस्तर कम होकर मात्र २३.६८ फीट रह गया है जबकि इसकी क्षमता १२० फिट पानी संग्रहित करने की है।सोमवार को राज्य विधानसभा में बुलाई गई एक बैठक के दौरान मुख्यमंत्री इडाप्पाडी के पलानीसामी ने बांध में पानी के स्तर के बारे में जल संसाधन विभाग के अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की। पलानीसामी ने एक विज्ञपति जारी कर कहा है कि विशेष सब्सिडी पैकेज की घोषणा राज्य की मौजूदा स्थिति को देखते हुए की गई है। इसके साथ ही किसानों को पहले की तरह ही १२ घंटे तीन फेज में बिजली की आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने कहा है कि सरकार की ओर से १.६ लाख एक़ड जमीन पर धान की खेती करने और १.३२ लाख एक़ड जमीन पर दहलन की खेती करने में किसानों को मदद की जाएगी।किसानों को ४,००० रुपए प्रति एक़ड के हिसाब से मशीनों से फसलों की बुवाई करने के लिए शत प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी। फसलों की उत्पादकता बढाने के लिए किसानों को प्रति एक़ड ५२० रुपए दिए जाएंगे और जमीन की उर्वरकता बढाने के लिए उसमें पोषक तत्वों को डालने के लिए २०० रुपए प्रति एक़ड के हिसाब से पोषक तत्व डाले जाएंगे। दलहन की फसल को बढावा देने के लिए किसानों को ९६० रुपए प्रति एक़ड की हिसाब से बीच उपलब्ध करवाए जाएंगे। पानी की आपूर्ति करने के लिए २१,००० रुपए प्रति इकाई के हिसाब से पाइप बिछाने के लिए सभी सरकार की ओर से आर्थिक मदद देने का निर्णय लिया गया है। प्रत्येक इकाई में ३० पीवीसी पाइप होंगी जिनकी लंबाई ६ मीटर होगी। प्रत्येक किसान को पानी का सही और न्यायपूर्ण ढंग से उपयोग करने के लिए १,३०० इकाइयां दी जाएंगी।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा
प्रधानमंत्री ने कहा कि छह दशक के परिवारवाद, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण ने उप्र को विकास में पीछे रखा
प्रधानमंत्री मोदी के कुशल नेतृत्व ने भारत को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया: नड्डा
अगले पांच वर्षों में देश आत्मविश्वास से विकास को नई रफ्तार देगा, यह मोदी की गारंटी: प्रधानमंत्री
मुख्य चुनाव आयुक्त ने तमिलनाडु में लोकसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा शुरू की
तेलंगाना: बीआरएस विधायक नंदिता की सड़क दुर्घटना में मौत; मुख्यमंत्री, केसीआर ने जताया शोक
अमेरिका की इस निजी कंपनी ने चंद्रमा पर पहला वाणिज्यिक अंतरिक्ष यान उतारकर इतिहास रचा
पश्चिम बंगाल: भाजपा प्रतिनिधिमंडल संदेशखाली का दौरा करेगा