गरीबों को 6,000 हर महीना देने की बजाय काम का वादा करे कांग्रेस: श्रमिक यूनियन

गरीबों को 6,000 हर महीना देने की बजाय काम का वादा करे कांग्रेस: श्रमिक यूनियन

श्रमिक

भोपाल/भाषा। मध्य प्रदेश के दैनिक वेतन भोगी एवं गैंगमैन श्रमिकों ने कांग्रेस के घोषणा पत्र में ‘न्याय योजना’ के तहत गरीबों को 6,000 रुपए प्रति माह बिना काम के दिए जाने के वादे को अनुचित ठहराते हुए काम की गारंटी देने की मांग की है।

दरअसल आगामी लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में वादा किया है कि सत्ता में आने पर वह ‘न्याय योजना’ के तहत देश के 5 करोड़ गरीबों को 6,000 रुपए प्रति माह देगी।

मध्यप्रदेश शासकीय गैंगमैन श्रमिक संघ भोपाल के प्रदेश अध्यक्ष विजय सिंह नेगी ने कहा कि गरीबों की आर्थिक स्थिति सुधरनी चाहिए, उन्हें बिना काम किए कुछ देने के बजाय नौकरी और काम के अवसर देना उनके और देश के लिए ज्यादा बेहतर होता।

मध्यप्रदेश शासकीय गैंगमैन श्रमिक संघ भोपाल, मध्य प्रदेश के करीब 30,000 दैनिक वेतन भोगी एवं गैंगमैन श्रमिकों का प्रदेशव्यापी संघ है।

नेगी ने कहा, केन्द्र एवं राज्य सरकारें आंगनबाड़ी, मनरेगा, जनस्वास्थ्य एवं गौ-सेवा में काम कर रहे कई कर्मियों एवं मजदूरों तथा कई संविदा कर्मियों को भी प्रति माह 6,000 रुपए वेतन नहीं देती हैं।

बेरोजगार सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अक्षय हुंका ने कहा, अगर ‘न्याय योजना’ में पैसा बगैर काम के दिया जा रहा है, तो यह अनुचित है। गारंटी काम की होनी चाहिए, बिना काम के पैसा देने की नहीं।

इसी बीच, मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी ने कहा, यह योजना देश के 20 प्रतिशत सबसे गरीब परिवारों के लिए है। इससे 5 करोड़ गरीब परिवारों के 25 करोड़ लोगों को लाभ पहुंचेगा। इसमें अनुचित क्या है?

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement