केनरा बैंक ने वित्तीय परिणाम जारी किए, निवल लाभ में 18.33 प्रतिशत की वृद्धि हुई

वैश्विक जमा में 11.29प्रतिशत की वृद्धि हुई

केनरा बैंक ने वित्तीय परिणाम जारी किए, निवल लाभ में 18.33 प्रतिशत की वृद्धि हुई

वित्तीय वर्ष 2023 के दौरान 120 प्रतिशत की तुलना में प्रदत्त पूंजी पर 161 प्रतिशत लाभांश

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। केनरा बैंक ने 31 मार्च को समाप्त वर्ष/तिमाही के वित्तीय परिणाम बुधवार को जारी किए। उसने बताया कि निवल लाभ में वर्षानुवर्ष 18.33 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। वैश्विक जमा में 11.29 प्रतिशत की और वित्तीय वर्ष 2023 के दौरान 120 प्रतिशत की तुलना में प्रदत्त पूंजी पर 161 प्रतिशत लाभांश मिला है।

बैंक ने बताया कि वैश्विक कारोबार 11.31 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 22,72,968 करोड़ रुपए, सकल अग्रिम 11.34 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 9,60,602 करोड़ रुपए, वैश्विक जमा 11.29 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 13,12,366 करोड़ रुपए रही है।

इसी तरह निवल-ब्याज आय में 11.18 प्रतिशत की वृद्धि हुई। निवल लाभ 18.33 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 3,757 करोड़ रुपए रहा। आस्तियों पर रिटर्न 20 बीपीएस सुधार के साथ 1.01 प्रतिशत रहा। प्रावधान कवरेज अनुपात (पीसीआर) 179 बीपीएस सुधार के साथ 89.10 प्रतिशत रहा है।

बैंक ने बताया कि ऋण लागत 21 बीपीएस के गिरावट के साथ 0.96 प्रतिशत रही। सकल एनपीए अनुपात 112 बीपीएस की गिरावट के साथ 4.23 प्रतिशत रहा है। निवल एनपीए अनुपात 46 बीपीएस की गिरावट के साथ 1.27 प्रतिशत रहा है। आरएएम क्रेडिट में 13.52 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

बैंक ने बताया कि खुदरा ऋण में 11.68 प्रतिशत की वृद्धि, आवास ऋण में 10.81 प्रतिशत और वाहन ऋण में 14.03 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। 2,53,206 करोड़ रुपए की पोर्टफोलियो राशि के साथ कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र में 18.69 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। निवल ब्याज मार्जिन 10 बीपीएस सुधार के साथ 3.05 प्रतिशत रहा। इक्विटी पर रिटर्न 257 बीपीएस सुधार के साथ 22.06 प्रतिशत रहा है।

बैंक के कारोबार में भी वृद्धि हुई है। उसका वैश्विक कारोबार मार्च 2024 तक 11.31 प्रतिशत (वर्षानुवर्ष) की वृद्धि के साथ 2272968 करोड़ रुपए हो गया, जिसमें वैश्विक जमा राशि 1312366 करोड़ 11.29 प्रतिशत और वैश्विक अग्रिम (सकल) 960602 करोड़ 11.34 प्रतिशत रहा है।

बैंक ने बताया कि उसकी घरेलू जमा राशि मार्च 2024 तक 10.98 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 1214951 करोड़ रुपए रही। बैंक का घरेलू अग्रिम (सकल) मार्च 2024 तक 11.06 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 908182 करोड़ रुपए रहा। खुदरा ऋण पोर्टफोलियो मार्च 2024 तक 11.68 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 156414 करोड़ रुपए रहा है। 

आवास ऋण पोर्टफोलियो 10.81 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 93482 करोड़ रुपए रहा। कृषि और संबद्ध क्षेत्र के लिए अग्रिम राशि मार्च 2024 तक 18.69 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 253206 करोड़ रुपए रही।

बैंक ने बताया कि सकल गैर-निष्पादित आस्तियां (जीएनपीए) अनुपात मार्च 2024 में घटकर 4.23 प्रतिशत रहा, जो दिसंबर 2023 में 4.39 प्रतिशत, मार्च 2023 में 5.35 प्रतिशत था। मार्च 2024 तक सीआरएआर 16.28 प्रतिशत (दिसंबर 2023 तक 15.78 प्रतिशत) रहा, जिसमें से टियर-1  13.95 प्रतिशत (दिसंबर 2023 तक 13.38 प्रतिशत), सीईटी-1 11.58 प्रतिशत (दिसंबर 2023 तक 11.28 प्रतिशत) और टियर-2, 2.33 प्रतिशत (दिसंबर 2023 तक 2.40 प्रतिशत) था।

बैंक ने बताया कि प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र और कृषि ऋण में एएनबीसी के क्रमशः 40 प्रतिशत और 18 प्रतिशत के मानदंड की तुलना में बैंक ने मार्च 2024 तक प्राथमिकता क्षेत्र में 46.08 प्रतिशत और कृषि ऋण में एएनबीसी का 22.71 प्रतिशत लक्ष्य हासिल किया। लघु और सीमांत किसानों को ऋण प्रदान करने के एएनबीसी के 10 प्रतिशत के मानदंड की तुलना में बैंक 16.08 प्रतिशत का लक्ष्य हासिल किया।

31 मार्च, 2024 तक बैंक की 9604 शाखाएं हैं। जिनमें से 3103 ग्रामीण, 2751 अर्ध-शहरी, 1907 शहरी और 1843 मेट्रो के साथ-साथ 10209 एटीएम हैं। बैंक की लंदन, न्यूयॉर्क, दुबई और गिफ्ट सिटी में 4 अंतरराष्ट्रीय शाखाएं भी हैं।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

अंजलि हत्याकांड: कर्नाटक के गृह मंत्री ने परिवार को इन्साफ मिलने का भरोसा दिलाया अंजलि हत्याकांड: कर्नाटक के गृह मंत्री ने परिवार को इन्साफ मिलने का भरोसा दिलाया
Photo: DrGParameshwara FB page
तृणकां-कांग्रेस मिलकर घुसपैठियों के कब्जे को कानूनी बनाना चाहती हैं: मोदी
अहमदाबाद: आईएसआईएस के 4 'आतंकवादियों' की गिरफ्तारी के बारे में गुजरात डीजीपी ने दी यह जानकारी
5 महीने चलीं उन फांसियों का रईसी से भी था गहरा संबंध! इजराइली मीडिया ने ​फिर किया जिक्र
ईरानी राष्ट्रपति का निधन, अब कौन संभालेगा मुल्क की बागडोर, कितने दिनों में होगा चुनाव?
बेंगलूरु में रेव पार्टी: केंद्रीय अपराध शाखा ने छापेमारी की तो मिलीं ये चीजें!
ओडिशा को विकास की रफ्तार चाहिए, यह बीजद की ढीली-ढाली नीतियों वाली सरकार नहीं दे सकती: मोदी