द्रमुक और अन्नाद्रमुक के अन्य कैडर भी भाजपा में होंगे शामिल : पोन राधाकृष्णन

द्रमुक और अन्नाद्रमुक के अन्य कैडर भी भाजपा में होंगे शामिल : पोन राधाकृष्णन

चेन्नई। केन्द्रीय स़डक परिवहन एवं छोटे बंदरगाह राज्य मंंत्री पोन राधाकृष्णन ने सोमवार को कहा कि अखिल भारतीय अन्ना द्रवि़ड मुनेत्र कषगम (अन्नाद्रमुक) के पूर्व मंत्री नैनार नागेन्द्रन का भारतीय जनता पार्टी (भाजपा ) में शामिल होना सिर्फ अन्नाद्रमुक और द्रवि़ड मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के नेताओं के पार्टी छो़डने की बस एक शुरुआत है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में अन्नाद्रमुक और द्रमुक के कई और कार्यकता भाजपा में शामिल होंगे।राधाकृष्णन ने बताया कि नैनार नागेन्द्रन ७ अगस्त को ही भाजपा में शामिल हो चुके थे लेकिन वह भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में पार्टी में खुद को नामांकित करवाना चाह रहे थे। उन्होंने राज्य की सत्तारुढ अन्नाद्रमुक पार्टी में पैदा हुई टूट में भाजपा की भूमिका से साफ तौर पर इंकार किया। उन्होंने कहा कि हमारा इससे कुछ भी लेना देना नहीं है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि अगर हम अन्नाद्रमुक के खेमों में चल रहे विवाद में हस्तक्षेप कर रहे होते तो अन्नाद्रमुक के ध़डे काफी पहले एक हो गए होते।उन्होंने तमिल की एक कहावत जिसका आशय होता है ’’कब ब़डा भाई मरेगा और कब स्थान रिक्त होगा’’ कहते हुए कहा कि द्रमुक राज्य में पिछले दरवाजे से सत्ता में आने की कोशिश कर रही है लेकिन ऐसा नहीं होगा। राधाकृष्णन ने कहा कि हम चाहते हैं कि राज्य में एक स्थिर और एक ईमानदार सरकार हो जो किसी भी प्रकार के भ्रष्टाचार से मुक्त हो। अगर इस प्रकार की सरकार होगी तो ही राज्य प्रगति कर पाएगा। उन्होंने कहा, हमें इस बात की काफी खुशी हुई कि पन्नीरसेल्वम और पलानीस्वामी ध़डे एक साथ आ गए लेकिन अब दिनाकरण के नेतृत्व में एक तीसरा ध़डा आ गया है जिसने राज्यपाल को पत्र सौंपा है। अब यह राज्यपाल पर निर्भर करता है कि वह इस संबंध में क्या निर्णय लेते हैं। इसी क्रम में भाजपा के राज्यसभा सांसद ने राज्य में अन्नाद्रमुक के ध़डों में चल रहे विवाद पर कहा कि राज्य की सत्तारुढ पार्टी बच्चों की तरह ल़ड रही हैं। लोगों ने इस पार्टी को पांच वर्षों के लिए चुना है लेकिन यह दुर्भाग्य है कि राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता का निधन हो गया। अगले चार वर्षों तक सत्ता में स्थित रहने के लिए अन्नाद्रमुक को एकजुटता दिखाने की आवश्यकता है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा
प्रधानमंत्री ने कहा कि छह दशक के परिवारवाद, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण ने उप्र को विकास में पीछे रखा
प्रधानमंत्री मोदी के कुशल नेतृत्व ने भारत को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया: नड्डा
अगले पांच वर्षों में देश आत्मविश्वास से विकास को नई रफ्तार देगा, यह मोदी की गारंटी: प्रधानमंत्री
मुख्य चुनाव आयुक्त ने तमिलनाडु में लोकसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा शुरू की
तेलंगाना: बीआरएस विधायक नंदिता की सड़क दुर्घटना में मौत; मुख्यमंत्री, केसीआर ने जताया शोक
अमेरिका की इस निजी कंपनी ने चंद्रमा पर पहला वाणिज्यिक अंतरिक्ष यान उतारकर इतिहास रचा
पश्चिम बंगाल: भाजपा प्रतिनिधिमंडल संदेशखाली का दौरा करेगा