बेंगलूरु में जल संकट, इन कार्यों पर बहाया पानी तो लगेगा तगड़ा जुर्माना

बीडब्ल्यूएसएसबी ने इस संबंध में 7 मार्च को आदेश जारी किया

बेंगलूरु में जल संकट, इन कार्यों पर बहाया पानी तो लगेगा तगड़ा जुर्माना

कहीं आदेशों का उल्लंघन हो रहा है तो कॉल सेंटर नं. 1916 पर सूचना भेज सकते हैं

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। बेंगलूरु में जल संकट के मद्देनजर बेंगलूरु जल आपूर्ति और सीवरेज बोर्ड (बीडब्ल्यूएसएसबी) ने गैर-जरूरी उद्देश्यों के लिए पेयजल के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है।

बीडब्ल्यूएसएसबी ने इस संबंध में 7 मार्च को आदेश जारी किया। उसके अनुसार, वाहनों की सफाई, बागवानी, फव्वारे, इमारतों और सड़कों के निर्माण और रखरखाव के लिए पेयजल का उपयोग सख्त वर्जित है। वहीं, मॉल और थिएटरों को केवल पीने के लिए पानी का उपयोग करने की अनुमति है।

अगर कोई पहली बार आदेश का उल्लंघन करेगा तो उस पर 5,000 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। जबकि बार-बार उल्लंघन करने पर रोजाना 500 रुपए का अतिरिक्त जुर्माना लगाया जाएगा।

अगर कहीं आदेशों का उल्लंघन हो रहा है तो बेंगलूरु निवासी बीडब्लूएसएसबी के कॉल सेंटर नं. 1916 पर सूचना भेज सकते हैं।

बेंगलूरु में गर्मी की दस्तक के साथ ही पानी की मांग बढ़ गई है। इससे लोगों को जल संकट का सामना करना पड़ रहा है। इसके मद्देनजर बीडब्लूएसएसबी ने बेंगलूरु जल आपूर्ति और सीवरेज अधिनियम 1964 की धारा 33 और 34 के तहत महत्त्वपूर्ण आदेश जारी किया है। इसमें जल संरक्षण पर जोर दिया गया है। जल संकट के कारण लोगों से कहा गया है कि वे कार धोने जैसे उन सभी कार्यों से परहेज करें, जिनमें पानी का अत्यधिक उपयोग होता है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

निर्मला सीतारमण फिर टैबलेट के जरिए पेपरलेस बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण फिर टैबलेट के जरिए पेपरलेस बजट पेश करेंगी
Photo: @nsitharamanoffc X account
पाकिस्तानी गायक राहत फतेह अली खान दुबई हवाईअड्डे से गिरफ्तार!
सरकार ने पीएम-सूर्य घर योजना के तहत डिस्कॉम को 4,950 करोड़ रु. के प्रोत्साहन के लिए दिशा-निर्देश जारी किए
किसान को मॉल में प्रवेश न देने की घटना के बाद दिशा-निर्देश जारी करेगी कर्नाटक सरकार
भोजनालयों पर नेम प्लेट मामले में उच्चतम न्यायालय ने इन राज्यों की सरकारों को नोटिस जारी किया
भारत की जीडीपी वर्ष 2024-25 में 6.5-7 प्रतिशत की दर से बढ़ेगी: आर्थिक सर्वेक्षण
सरकारी कर्मचारियों को आरएसएस की गतिविधियों में भाग लेने संबंधी अनुमति देने पर क्या बोले विपक्ष के नेता?