इमरान और बुशरा बीबी को इद्दत से जुड़े मामले में सात-सात साल जेल की सजा सुनाई गई

फैसले के बाद उन्होंने कहा,-'मैंने कोई सौदा नहीं किया है और न ही कभी करूंगा'

इमरान और बुशरा बीबी को इद्दत से जुड़े मामले में सात-सात साल जेल की सजा सुनाई गई

Photo: PTI YouTube Channel

इस्लामाबाद/दक्षिण भारत। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रहीं। रावलपिंडी की एक अदालत ने उन्हें और उनकी पत्नी बुशरा बीबी को इद्दत अवधि के दौरान शादी से संबंधित मामले में सात-सात साल की सजा सुनाई है।

वरिष्ठ सिविल न्यायाधीश कुदरतुल्ला ने अडियाला जिला जेल में एक अस्थायी अदालत में बुशरा के पूर्व पति खावर फरीद मनेका की शिकायत पर फैसला सुनाया है।

यह फैसला उसी हफ्ते आया है, जब पाक के पूर्व प्रधानमंत्री को साइफर मामले में 10 साल और तोशाखाना मामले में 14 साल की सजा सुनाई जा चुकी है।

इद्दत मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद इमरान खान ने कहा कि उन्होंने सत्ता के साथ किसी भी सौदे को न तो स्वीकार किया है और न ही भविष्य में स्वीकार करेंगे। उन्होंने यहां तक कहा कि वे किसी के साथ सौदा करने के बजाय मौत को चुनेंगे।

फैसले के बाद अदालत के पत्रकारों से संक्षिप्त बातचीत में उन्होंने कहा, 'मैंने कोई सौदा नहीं किया है और न ही कभी करूंगा।'

उन्होंने कहा कि चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के ठीक बाद उनकी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को निशाना बनाया गया। उन्होंने कहा कि अब उनके उम्मीदवारों को अपना अभियान चलाने की भी अनुमति नहीं दी जा रही है।

इमरान खान ने संवाददाताओं से कहा कि उनके खिलाफ मामला उन्हें और उनकी पत्नी बुशरा बीबी को अपमानित करने के लिए दर्ज किया गया था।

उन्होंने कहा, 'इतिहास में यह पहला उदाहरण है, जहां इद्दत से संबंधित मामला शुरू किया गया है। यह भी पहली बार है कि तोशाखाना मामले में किसी को 14 साल कैद की सजा सुनाई गई है।'

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

'मेक-इन इंडिया' के सपने को साकार करने में एचएएल की बहुत बड़ी भूमिका: रक्षा राज्य मंत्री 'मेक-इन इंडिया' के सपने को साकार करने में एचएएल की बहुत बड़ी भूमिका: रक्षा राज्य मंत्री
उन्होंने एचएएल के शीर्ष प्रबंधन को संबोधित किया
हर साल 4000 से ज्यादा विद्यार्थियों को ऑटोमोटिव कौशल सिखा रही टाटा मोटर्स की स्किल लैब्स पहल
भोजशाला: सर्वेक्षण के खिलाफ याचिका सूचीबद्ध करने पर विचार के लिए उच्चतम न्यायालय सहमत
इमरान ख़ान की पार्टी पर प्रतिबंध लगाएगी पाकिस्तान सरकार!
भोजशाला मामला: एएसआई ने सर्वेक्षण रिपोर्ट मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय को सौंपी
उच्चतम न्यायालय ने सीबीआई की एफआईआर को चुनौती देने वाली शिवकुमार की याचिका खारिज की
ईश्वर ही था, जिसने अकल्पनीय घटना को रोका, अमेरिका को एकजुट करें: ट्रंप