देखें वीडियो: इस बार बड़ी कार्रवाई की तैयारी में इजराइल, इमारतों को कर दिया धुआं-धुआं

3 लाख अतिरिक्त सैनिक तैनात किए

देखें वीडियो: इस बार बड़ी कार्रवाई की तैयारी में इजराइल, इमारतों को कर दिया धुआं-धुआं

पिछले चार दिन से जारी इस युद्ध में कम से कम 1,600 लोगों की मौत हो चुकी है

यरूशलम/एपी। इजराइल के युद्धक विमानों ने युद्ध के चौथे दिन मंगलवार सुबह गाजा सिटी में लगातार बमबारी की, जो आतंकवादी संगठन हमास द्वारा संचालित सरकार का केंद्र है।

यह कार्रवाई तब की गई है, जब इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने आतंकवादी समूह से ऐसा बदला लेने का संकल्प लिया है, जिसकी ‘गूंज कई पीढ़ियों तक सुनाई देगी।’

पिछले चार दिन से जारी इस युद्ध में कम से कम 1,600 लोगों की मौत हो चुकी है। इजराइल की सड़कों पर कई दशकों में पहली बार ऐसा खूनखराबा देखा गया और इसके जवाब में गाजा में कई इलाके नेस्तनाबूद कर दिए गए।

हमास ने यह कहकर तनाव और बढ़ा दिया है कि अगर बिना पूर्व चेतावनी के नागरिकों को निशाना बनाकर हमले किए जाते हैं, तो वह बंधक बनाए गए इजराइलियों को मौत के घाट उतार देगा।

इजराइली सेना ने देश के दक्षिणी हिस्से में ज्यादातर जगहों पर फिर से नियंत्रण कर लेने का दावा करते हुए कहा कि हमास के करीब 1,500 आतंकवादियों के शव इजराइली क्षेत्र में पाए गए हैं।

इजराइल ने कहा कि हमास और गाजा में अन्य आतंकवादी समूहों ने हमले के बाद उसके 150 से अधिक सैनिकों तथा नागरिकों को बंधक बना लिया।

इजराइल के 3,00,000 अतिरिक्त सैनिकों को तैनात करने के बाद एक बड़ा सवाल खड़ा होता है कि क्या वह छोटे से भूमध्यसागरीय तटीय क्षेत्र गाजा में जमीनी आक्रमण शुरू करेगा? उसने आखिरी बार साल 2014 में जमीनी आक्रमण किया था।

इजराइल ने और आक्रमण रोकने के लिए गाजा सीमा पर टैंक और ड्रोन तैनात किए हैं। गाजा के पास 12 से अधिक शहरों से हजारों इजराइलियों को निकाला गया है। वहीं, गाजा में लगातार जारी हवाई हमलों में इमारतों के जमींदोज होने के कारण हजारों निवासी अपने घरों को छोड़कर चले गए हैं।

इजराइल के रविवार को युद्ध की औपचारिक घोषणा करने के साथ ही यह कदम हमास के खिलाफ अभियान तेज करने का संकेत है, जिससे घनी आबादी वाले गाजा पट्टी में व्यापक विनाश का खतरा पैदा हो गया है।

नेतन्याहू ने राष्ट्रीय टेलीविजन पर दिए संबोधन में कहा, ‘हमने हमास पर हमला करना अभी तो शुरू ही किया है। हम आने वाले दिनों में अपने दुश्मनों के साथ जो करेंगे, उसकी गूंज कई पीढ़ियों तक सुनाई देगी।’

इजराइली सेना ने कहा कि उसने रातभर गाजा सिटी के रीमल इलाके में हमास के सैकड़ों ठिकानों को निशाना बनाया। इस इलाके में हमास के कई मंत्रालय और इमारतें हैं।

रीमल में व्यापक पैमाने पर विनाश से यह संकेत मिलता है कि गाजा में इजराइल की नई रणनीति यह हो सकती है कि नागरिकों को कुछ इलाकों को खाली करने की चेतावनी दी जाए और फिर उन इलाकों में अभूतपूर्व तीव्रता के हवाई हमले किए जाए।

सप्ताहांत में इजराइल की सीमा से लगते गाजा के इलाकों में शुरू हुई भारी बमबारी रातभर गाजा सिटी के केंद्र तक फैल गई है। अगर यह बमबारी जारी रहती है तो गाजा के नागरिकों के पास शरण लेने के लिए बहुत कम इलाके बचेंगे क्योंकि ज्यादातर इलाकों में रहने लायक परिस्थितियां नहीं हैं।

इजराइली सेना के एक प्रवक्ता रिचर्ड हेक्ट ने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि फलस्तीनियों को मिस्र के साथ लगती राफा सीमा चौकी से निकलने का प्रयास करना चाहिए लेकिन बाद में सेना ने कहा कि सीमा चौकी बंद कर दी गई है।

यह पूछे जाने पर कि क्या इजराइल हमास की नागरिक सरकार, जैसे कि संसद और मंत्रालय को निशाना बनाना चाहता है, इस पर हेक्ट ने कहा, ‘अगर कोई बंदूकधारी वहां से रॉकेट दागता है तो वह सैन्य निशाना बन जाएगा।’

इजराइल के हवाई हमलों के जवाब में हमास की सैन्य शाखा के प्रवक्ता अबू ओबैदा ने सोमवार रात को कहा कि जब-जब इजराइल गाजा के नागरिकों को उनके घरों में ‘बिना किसी पूर्व चेतावनी’ के निशाना बनाएगा, तब-तब समूह एक इजराइली बंधक की हत्या करेगा।

इजराइल के विदेश मंत्री अली कोहेन ने हमास को किसी भी बंधक को नुकसान पहुंचाने के खिलाफ चेतावनी देते हुए कहा, ‘इस युद्ध अपराध को भुलाया नहीं जाएगा।’

नेतन्याहू ने बंधक संकट से निपटने और लापता लोगों की तलाश के लिए एक पूर्व सैन्य कमांडर को नियुक्त किया है।

इजराइली सेना ने बताया कि हमलों में देश में 900 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि गाजा और वेस्ट बैंक में 704 लोग मारे गए हैं, जिनमें सैकड़ों हमास लड़ाके भी शामिल है। दोनों पक्षों के हजारों लोग इस संघर्ष में घायल हुए हैं।

हमास के हमले में इतनी बड़ी संख्या में लोगों की मौत मिस्र और सीरिया के साथ 1973 के युद्ध के बाद से पहली बार देखी गई है।

इजराइली युद्धक विमान ने मध्य गाजा सिटी के रिहायशी और व्यावसायिक जिले रीमल में निवासियों को जगह खाली करने की चेतावनी देने के बाद भीषण बमबारी की। लगातार विस्फोटों के बीच वह इमारत तबाह हो गई, जिसमें फलस्तीनी दूरसंचार कंपनी का मुख्यालय स्थित था।

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय मामलों के समन्वय कार्यालय ने मंगलवार को बताया कि गाजा पर इजराइली हवाई हमलों में 790 मकान जमींदोज हो गए हैं और 5,330 गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हुए हैं। जल और साफ-सफाई से संबंधित तीन स्थानों पर हमले से 4,00,000 लोगों तक सेवाएं बाधित हो गई हैं।

इजराइल के रक्षा मंत्री याओव गैलेंट ने गाजा की ‘पूर्ण नाकाबंदी’ का आदेश देते हुए कहा कि प्राधिकारी बिजली आपूर्ति बंद करेंगे और खाद्य सामग्री तथा ईंधन लेकर जाने वाले वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाएंगे।

इजराइल की इस नाकाबंदी से गाजा पूरी तरह मिस्र पर निर्भर हो जाएगा, जिसकी राफा सीमा से माल ले जाने की क्षमता इजराइल की अन्य जांच चौकियों के मुकाबले कम है।

मिस्र के एक अन्य अधिकारी ने नाम न उजागर करने की शर्त पर बताया कि मिस्र रेड क्रीसेंट की ओर से दो टन से अधिक चिकित्सा सामग्री गाजा भेजी गई है। अधिकारी के मुताबिक, क्षेत्र में खाद्य सामग्री और अन्य जरूरी सामान की आपूर्ति के भी प्रयास किए जा रहे हैं।

इजराइल के रियर एडमिरल डेनियल हेगारी ने दावा किया कि पिछले 48 घंटे में इजराइल द्वारा ढहाई गई इमारतों में मलबे में हमास के सैकड़ों आतंकवादी दफन हो गए। हालांकि, उनके दावों की पुष्टि नहीं की जा सकी है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News