आर्सेलर मित्तल करना चाहती है पांच हजार लोगों की छंटनी

रोम/एजेन्सी। इटली के प्रधानमंत्री ग्यूसेप कोंते ने कहा कि उत्पादन संबंधी चिंताओं के चलते आर्सेलर मित्तल एक स्थानीय संयंत्र से पांच हजार लोगों की छंटनी करना चाहती है। सरकार को यह अस्वीकार्य है। आर्सेलर मित्तल संकटों से घिरी स्थानीय कंपनी इल्वा को खरीदने वाली थी, लेकिन वह सोमवार को इस करार से पीछे हट गयी। कंपनी ने इसके लिये इटली की सरकार को जिम्मेदार बताया था। इटली की सरकार ने प्रदूषण फैला रहे तरांतो संयंत्र को लेकर कानूनी मुकदमे से कंपनी को छूट देने से मना कर दिया।
कंपनी ने इसके बाद ही सौदे से पीछे हटने का निर्णय लिया है। इस घोषणा के बाद इटली में निराशा का माहौल है। सौदा होने की स्थिति में हजारों रोजगार के बचने की उम्मीद थी।
हालांकि, कोंते ने बुधवार को कहा कि कंपनी ने उत्पादन संबंधी कारणों को लेकर सौदे से पीछे हटने का निर्णय लिया है। उन्होंने आर्सेलर मित्तल के प्रबंधन के साथ बैठक के बाद कहा, उनके पीछे हटने का मूल कारण है कि निवेश मुनाफायोग्य नहीं था और अब वे पांच हजार लोगों की छंटनी की मांग रख रही है। यह अस्वीकार्य है।