विजयेंद्र बोले- ईश्वरप्पा को भाजपा से निष्कासित किया गया, क्योंकि वे ...

विजयेंद्र के भाई और वर्तमान सांसद बीवाई राघवेंद्र शिवमोग्गा से भाजपा के आधिकारिक उम्मीदवार हैं

विजयेंद्र बोले- ईश्वरप्पा को भाजपा से निष्कासित किया गया, क्योंकि वे ...

Photo: BYVijayendra FB page

शिवमोग्गा/दक्षिण भारत। कर्नाटक भाजपा अध्यक्ष बीवाई विजयेंद्र ने मंगलवार को कहा कि बागी नेता केएस ईश्वरप्पा को निष्कासित कर दिया गया, क्योंकि वे लाख कोशिशों के बावजूद लोकसभा चुनाव मैदान में बने रहे। 

विजयेंद्र ने दावा किया कि ईश्वरप्पा को शिवमोग्गा लोकसभा क्षेत्र के तहत किसी भी विधानसभा क्षेत्र में लोगों का समर्थन नहीं मिलेगा, जहां वे निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं।

विजयेंद्र के भाई और वर्तमान सांसद बीवाई राघवेंद्र शिवमोग्गा से भाजपा के आधिकारिक उम्मीदवार हैं।

बता दें कि पूर्व उपमुख्यमंत्री ईश्वरप्पा, जिन्होंने पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष के रूप में भी काम किया था, अपने बेटे केई कांतेश को हावेरी से चुनाव लड़ने के लिए टिकट नहीं दिए जाने के लिए विजयेंद्र और उनके पिता बीएस येडियुरप्पा को जिम्मेदार ठहराते हुए मैदान में उतरे हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई को हावेरी से भाजपा का उम्मीदवार बनाया गया है।

विजयेंद्र ने यहां संवाददाताओं से कहा कि तमाम कोशिशों के बावजूद उनका (ईश्वरप्पा का) चुनाव मैदान में बने रहना उनके लिए छोड़ी गई बात है। इसके चलते भाजपा की अनुशासन समिति ने फैसला लिया और उन्हें छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। उन्होंने भी अपनी खुशी जाहिर की है।

भाजपा ने सोमवार को पार्टी अनुशासन का उल्लंघन करने और स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए ईश्वरप्पा को छह साल के लिए निष्कासित कर दिया।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि सपा सरकार में माफिया गरीबों की जमीनों पर कब्जा करता था
केजरीवाल का शाह से सवाल- क्या दिल्ली के लोग पाकिस्तानी हैं?
किसी युवा को परिवार छोड़कर अन्य राज्य में न जाना पड़े, ऐसा ओडिशा बनाना चाहते हैं: शाह
बेंगलूरु हवाईअड्डे ने वाहन प्रवेश शुल्क संबंधी फैसला वापस लिया
जो काम 10 वर्षों में हुआ, उससे ज्यादा अगले पांच वर्षों में होगा: मोदी
रईसी के बाद ईरान की बागडोर संभालने वाले मोखबर कौन हैं, कब तक पद पर रहेंगे?
'न चुनाव प्रचार किया, न वोट डाला' ... भाजपा ने इन वरिष्ठ नेता को दिया 'कारण बताओ' नोटिस