18 राज्यों में 33 खेल बुनियादी ढांचा परियोजनाएं ... यहां तैयार होंगे भविष्य के पदक विजेता

निसिथ प्रमाणिक ने 262 करोड़ रुपए की लागत की परियोजनाओं का उद्घाटन किया

18 राज्यों में 33 खेल बुनियादी ढांचा परियोजनाएं ... यहां तैयार होंगे भविष्य के पदक विजेता

भारत के लिए पदक जीतने के लिए सर्वोत्तम उपलब्ध कोचिंग और प्रशिक्षण मिलेगा

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। केंद्रीय युवा मामले और खेल राज्य मंत्री निसिथ प्रमाणिक ने सोमवार को वर्चुअल मोड में 262 करोड़ रुपए की लागत से 18 राज्यों में फैलीं 33 खेल बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का उद्घाटन किया।

एमवाईएएस द्वारा खेलो इंडिया योजना के तहत वित्त पोषित, अत्याधुनिक सुविधाएं भारत को जल्द ही खेल महाशक्ति के रूप में उभरने में मदद करेंगी। यह कदम साई (एसएआई) और राज्य सरकारों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट आयोजित करने में भी सक्षम बनाएगा।

प्रमाणिक ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न राज्यों में विकसित 24 खेलो इंडिया परियोजनाओं के अलावा छह साई केंद्रों के तहत नौ परियोजनाएं शुरू कीं।

प्रमाणिक ने कहा कि आज हमने 24 खेलो इंडिया स्पोर्ट्स इंफ्रास्ट्रक्चर और नौ परियोजनाएं लॉन्च की हैं, जो साई का हिस्सा हैं। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि चुनाव कभी भी प्रगति के रास्ते में नहीं आना चाहिए। हम बच्चों को विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचा प्रदान कर रहे हैं, जो उनकी प्रतिभा और कौशल को निखारने में मदद करेगा। बच्चों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों में भारत के लिए पदक जीतने के लिए सर्वोत्तम उपलब्ध कोचिंग और प्रशिक्षण मिलेगा।

सूची में डॉ. करणी सिंह शूटिंग रेंज (नई दिल्ली) में एक स्पोर्ट्स हॉस्टल, राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्र (एनसीओई) औरंगाबाद में खेल छात्रावास और फेंसिंग हॉल, एसटीसी कोकराझार (असम) में सिंथेटिक एथलेटिक ट्रैक और हॉकी टर्फ, सीआरसी भोपाल में खेल छात्रावास, एसटीसी हज़ारीबाग में सिंथेटिक हॉकी टर्फ, एनआरसी सोनीपत में तीरंदाजी उत्कृष्टता केंद्र और खेल छात्रावास सहित अन्य सुविधाएं शामिल हैं।

Google News

About The Author

Related Posts

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News