देश के लोगों से छीनना, उन्हें तरसाकर रखना इंडि गठबंधन वालों का मकसद है: मोदी

प्रधानमंत्री ने बिहार के अररिया में जनसभा को संबोधित किया

देश के लोगों से छीनना, उन्हें तरसाकर रखना इंडि गठबंधन वालों का मकसद है: मोदी

प्रधानमंत्री ने कहा कि राजद और इंडि गठबंधन को न देश के संविधान की परवाह है और न ही लोकतंत्र की

अररिया/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को बिहार के अररिया में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि अररिया और सुपौल का यह स्नेह मेरे लिए बहुत बड़ी ऊर्जा है, बहुत बड़ी शक्ति है। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि आपके इस कर्ज को उतारने के लिए मैं और ज्यादा मेहनत करूंगा और तीसरे कार्यकाल में आपके हित में, देश के हित में और ज्यादा बड़े फैसले देश लेने वाला है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज दूसरे चरण का मतदान भी चल रहा है। यह लोकतंत्र का महापर्व है। सभी मतदाताओं से, विशेषकर युवा मतदाताओं से मेरी अपील है कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में वोट डालने के लिए जाएं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि साल 2024 का यह चुनाव भारत को आर्थिक और सामरिक रूप से शक्तिशाली बनाने के लिए है। इसमें बिहार के आप सभी जागरूक भाई-बहनों की बहुत बड़ी भूमिका है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि गुलामी के लंबे कालखंड से पहले जब बिहार समृद्ध था, तब भारत एक महाशक्ति था। आज जब भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी आर्थिक महाशक्ति बनने के लिए चल पड़ा है, तो बिहार की भी इसमें बहुत बड़ी भूमिका है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि राजद और कांग्रेस के इंडि गठबंधन को न देश के संविधान की परवाह है और न ही लोकतंत्र की परवाह है। ये वो लोग हैं, जिन्होंने दशकों तक बैलट पेपर के बहाने लोगों का, गरीबों का अधिकार छीना। पोलिंग बूथ लूट लिए जाते थे, बैलट पेपर लूट लिए जाते थे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अब जब गरीबों को, देश के ईमानदार मतदाता को ईवीएम की ताकत मिली है, तो ये जो चुनाव के दिन लूट चलाते थे, वोट हड़पने के खेल खेलते थे, अभी भी वो परेशान हैं। इसलिए उनका दिन-रात यही काम रहता है कि कैसे भी करके ईवीएम हटनी चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इंडि गठबंधन के हर नेता ने ईवीएम को लेकर जनता के मन में संदेह पैदा करने का पाप किया है, लेकिन आज देश के लोकतंत्र और बाबा साहेब अंबेडकर के संविधान की ताकत देखिए। आज उच्चतम न्यायालय ने मतपेटियों को लूटने का इरादा रखने वालों को ऐसा गहरा झटका दिया है कि उनके सारे सपने चूर-चूर हो गए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज उच्चतम न्यायालय ने साफ-साफ कह दिया है कि बैलट पेपर वाला पुराना दौर वापस लौटकर नहीं आएगा। आज जब पूरी दुनिया भारत के लोकतंत्र की, भारत की चुनाव प्रक्रिया की, चुनाव में टेक्नोलॉजी के उपयोग की वाहवाही करती है, तब ये लोग अपने निजी स्वार्थ के लिए ईवीएम को बदनाम करने पर लगे पड़े थे। इन्होंने लोकतंत्र के साथ लगातार विश्वासघात करने की कोशिश की है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज देश में राजनीति की दो मुख्य धाराएं बन गई हैं। एक धारा भाजपा और राजग की है, जिसका मकसद है देश के लोगों को सशक्त करना, हर लाभार्थी के दरवाजे तक खुद जाकर उसे लाभ पहुंचाना। इसके विपरीत एक और धारा है- कांग्रेस और राजद की। इंडि गठबंधन वालों का मकसद है, देश के लोगों से छीनना, उन्हें तरसाकर रखना और अपनी तिजोरी भरना।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बहनों-बेटियों के जीवन को आसान बनाना राजग की प्राथमिकता है। बहनों को उनकी सुविधा के लिए नल से जल मिला है, शौचालय मिला है, मुफ्त बिजली कनेक्शन मिले हैं। राजग सरकार की मुफ्त राशन की योजना ने हमारी माताओं-बहनों-बेटियों की बहुत बड़ी चिंता समाप्त कर दी है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News