पूर्व मुख्यमंत्री सिद्दरामैया
पूर्व मुख्यमंत्री सिद्दरामैया

बेलगावी/दक्षिण भारत। अयोग्य घोषित किए गए विधायक एवं आगामी विधानसभा उपचुनाव के लिए गोकक निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार रमेश जरकीहोली ने शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता सिद्दरामैया के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री ने उन्हें पार्टी से बाहर किया।

यहां सांब्रा हवाईअड्डे पर मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस में सिद्दरामैया मेरे जूनियर थे, लेकिन विधायक सतीश जरकीहोली की साजिश के कारण उन्होंने मुझे पार्टी से बाहर कर दिया।’

अयोग्य घोषित विधायक महेश कुमटल्ली को अठानी से टिकट देने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह पार्टी का फैसला है, मैं इस मामले पर कुछ नहीं कहूंगा। विश्वास व्यक्त करते हुए जरकीहोली ने कहा, ‘मैं निश्चित रूप से भारी अंतर से जीतूंगा, इसमें कोई संदेह नहीं है।’

सिद्दरामैया के बारे में बात करते हुए, उन्होंने कहा कि उनके राजनीतिक गुरु एच विश्वनाथ थे, न कि कांग्रेस नेता। अयोग्य ठहराए गए विधायक आर शंकर के बारे में एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि कुछ कारणों से पार्टी उन्हें टिकट नहीं दे सकती है, लेकिन निश्चित रूप से उन्हें मंत्री पद की पेशकश करेगी, यह मेरी जिम्मेदारी है।

अपने छोटे भाई और कांग्रेस नेता लखन जरकीहोली, जो उनके खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं, के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘लखन ने पीठ पर वार किया है। वह विश्वासघाती है।’ जरकीहोली के साथ अठानी से भाजपा के उम्मीदवार महेश कुमटल्ली ने कहा कि वे सोमवार को नामांकन पत्र दाखिल करेंगे।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री सतीश जरकीहोली, जो रमेश और कुमटल्ली के साथ बेंगलूरु से उड़ान भर रहे थे, ने सांब्रा हवाईअड्डे पर पत्रकारों से कहा, निश्चित रूप से कांग्रेस के उम्मीदवार गोकक और अठानी विधानसभा क्षेत्रों से जीतेंगे। हमारे मतदाता साथ हैं और कांग्रेस को अठानी, कागवाड व गोकक तीनों सीटों पर जीत मिलेगी। मैं जरकीहोली द्वारा दिए गए बयानों पर टिप्पणी नहीं करूंगा। हम उपचुनाव में अपनी ताकत दिखाएंगे।