बेंगलूरु के पुलिस आयुक्त भास्कर राव
बेंगलूरु के पुलिस आयुक्त भास्कर राव

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। पिछले सप्ताह हैदराबाद में एक 26 वर्षीया पशु चिकित्सक से दुष्कर्म और हत्या की घटना के बाद ऐसे अपराधों में लिप्त दरिंदों के खिलाफ बेंगलूरु में भी गहरा आक्रोश है। इस बीच बेंगलूरु पुलिस प्रमुख ने लोगों को सुरक्षा का आश्वासन दिया है।

बेंगलूरु के पुलिस आयुक्त भास्कर राव ने सोमवार को कहा, तेलंगाना में दुष्कर्म और हत्या के मामले के बाद, हम समस्त बेंगलूरुवासियों और शहर में आने वाले किसी भी शख्स को आश्वस्त करते हैं कि उनकी सुरक्षा को लेकर बहुत ज्यादा सतर्कता बरती जाएगी।

राव ने कहा, हम आपकी सुरक्षा के संबंध में 100 प्रतिशत भरोसा दिलाते देते हैं। किसी भी कॉल का जवाब सात सेकंड के भीतर दिया जाएगा। हम एसएमएस से भी जवाब भेजते हैं।

बता दें कि बुधवार रात को हैदराबाद के पास चार युवकों ने महिला चिकित्सक के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया, फिर गला घोंटा और आग लगा दी। महिला का शव गुरुवार सुबह मिला था।

इस मामले में शुक्रवार को गिरफ्तार किए गए युवकों ने महिला चिकित्सक का दोपहिया वाहन पंचर कर दिया था। महिला ने उसे पार्क करने के बाद हैदराबाद के लिए टैक्सी ली थी। आरोपी मोहम्मद आरिफ, जोलू शिवा, जोलू नवीन और सी. चेन्नाकेशवुलु, जो ट्रक ड्राइवर और क्लीनर के तौर पर काम करते थे, ने महिला को मदद की पेशकश की और फिर उस पर हमला कर दिया।

घटना के बाद तीन पुलिसकर्मियों को अपनी जिम्मेदारी ठीक तरह से नहीं निभाने पर निलंबित कर दिया गया है। महिला के परिवार ने कहा था कि इन पुलिसकर्मियों ने बेटी के लापता होने के बाद रिपोर्ट दर्ज करने में देरी की। उन्होंने आरोप लगाया है कि पुलिस ने ‘कीमती समय बर्बाद किया’ जिसका इस्तेमाल उसे बचाने के लिए किया जा सकता था।

जनता द्वारा भारी विरोध प्रदर्शन के बाद तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने कहा कि दुष्कर्म और हत्या के मामले को फास्ट-ट्रैक अदालत में सुना जाएगा।