युवाओं में उद्यमिता का गुण विकसित करने की आवश्यकता : रावत

अल्मोड़ा/देहरादून/वार्ता। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि दक्षता व विश्वसनीयता राज्य के युवाओं की विशेषता है और उनमें उद्यमिता का गुण विकसित करने की आवश्यकता है। रावत ने गुरुवार को राज्य स्थापना समारोह सप्ताह के अंतर्गत, अल्मोड़ा स्थित उदयशंकर नृत्य एवं संगीत अकादमी में आयोजित युवा सम्मेलन के दौरान अपने संबोधन में यह बात कही। रावत ने कहा कि दक्षता व विश्वसनीयता राज्य के युवाओं की विशेषता है और उनमें उद्यमिता का गुण विकसित करने की जरुरत है। युवा देश का कल हैं। उन्हें अपनी शक्ति को पहचानना होगा और नई सोच के साथ बढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि युवाओं के चेहरे पर मुस्कुराहट से ही देश के चेहरे पर मुस्कुराहट आती है। रावत ने कहा कि सरकार की सोच है कि युवाओं की आकांक्षाओं को जानकर सरकार के बजट व योजनाओं में इन आकांक्षाओं को स्थान दिया जाए। उन्होंने कहा कि देश में एवियेशन का क्षेत्र काफी बढ़ रहा है। इसमें रोजगार की काफी सम्भावनाएं हैं। आने वाले समय में उत्तराखण्ड एडवेंचर टूरिज्म का बेस्ट डेस्टीनेशन बनने जा रहा है। हम साहसिक पर्यटन का अलग निदेशालय बना रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि देहरादून में तमाम प्रदेशों के बच्चे यहां पढ़ने आते हैं। राज्य की अर्थव्यवस्था में इनका भी योगदान है। राज्य स्थापना दिवस पर भारत-भारती का आयोजन किया जा रहा है।

इसे कलर्स ऑफ इण्डिया का नाम दिया गया है। इसमें भारत की संस्कृति के विभिन्न रंग देखने को मिलेंगे। इस अवसर पर केन्द्रीय युवा एवं खेल राज्य मंत्री किरण रिजिजू विधानसभा अध्यक्ष उपाध्यक्ष रघुनाथ चौहान, राज्य के केबिनेट मंत्री यशपाल आर्य, अरविंद पाण्डे सहित अन्य गणमान्य उपस्थित थे। कार्यक्रम में देश-विदेश में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रहे युवाओं के साथ राज्य की भावी योजनाओं पर विस्तार से चर्चा की गई। विभिन्न क्षेत्रों में काम कर चुके युवाओं के अनुभव भी साझा किये गए।