मॉडल पेपर का यह पृष्ठ सोशल मीडिया में शेयर किया जा रहा है।
मॉडल पेपर का यह पृष्ठ सोशल मीडिया में शेयर किया जा रहा है।

भोपाल/भाषा। मध्य प्रदेश शिक्षा विभाग द्वारा 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए जारी ‘मॉडल प्रश्नपत्र’ में ‘गैंबलिंग’ की जगह ‘गांधीजी’ छप जाने से प्रदेश की कांग्रेस नीत सरकार की किरकिरी हो गई है। इसके बाद सरकार ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं।

यह गलती मध्य प्रदेश बोर्ड के 2019-20 शैक्षणिक सत्र की परीक्षा में बैठने वाले विद्यार्थियों के लिए बनाए गए मॉडल टेस्ट पेपर नंबर-3 में हुई है। इस मॉडल टेस्ट पेपर में प्रश्नों के साथ-साथ उनके उत्तर भी दिए गए हैं, ताकि छात्र-छात्राएं अपने फाइनल पेपर में अच्छा प्रदर्शन कर सकें।

इस मॉडल टेस्ट पेपर के पहले पेज के सातवें सवाल में अंग्रेजी में प्रश्न है कि सुबुद्धि और कुबुद्धि की विशेषताएं क्या होती हैं? इसके जवाब में अंग्रेजी में ही लिखा गया है- ‘सुबुद्धि एक ईमानदार इंसान था और उसने अच्छी जिंदगी जी। कुबुद्धि एक दुष्ट इंसान था और उसने दारू पीने और ‘गांधीजी’ की जिंदगी जी।’ दरअसल ‘गांधीजी’ की जगह यहां पर ‘गैंबलिंग’ (जुआ खेलने) छपा होना चाहिए था। पूरा विवाद इसी शब्द पर खड़ा हो गया है।

मध्य प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने रविवार को फोन पर बताया, छपाई में हुई गलती को मेरे संज्ञान में लाया गया है। इसकी विस्तृत जांच करवाई जाएगी। उन्होंने कहा, इसमें जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।