निर्भया कांड के दोषी
निर्भया कांड के दोषी

नई दिल्ली/भाषा। वर्ष 2012 के बहुचर्चित निर्भया बलात्कार एवं हत्याकांड में मौत की सजा मुकर्रर किए गए चार मुजरिमों में से दो के वकील ने शुक्रवार को यह आरोप लगाते हुए दिल्ली की एक अदालत का दरवाजा खटखटाया कि तिहाड़ जेल प्रशासन कुछ खास दस्तावेजों को सौंपने में देरी कर रहा है।

वकील एपी सिंह ने यह आरोप लगाते हुए अर्जी लगाई कि जेल प्रशासन ने अब तक दस्तावेज नहीं सौंपे हैं जिनकी अक्षय कुमार सिंह (31) और पवन सिंह (25) के लिए सुधारात्मक याचिका दायर करने के लिए जरूरत है।

इस अर्जी पर शनिवार को सुनवाई होने की संभावना है। शीर्ष अदालत ने हाल ही में दो अन्य मुजरिमों विनय कुमार शर्मा (26) और मुकेश सिंह (32) की सुधारात्मक याचिका खारिज कर दी थी। चारों मुजरिमों को अदालत के आदेश के अनुसार एक फरवरी को सुबह छह बजे फांसी पर लटकाया जाना है।

सोलह दिसंबर, 2012 को दक्षिण दिल्ली में एक चलती बस में 23 वर्षीया पैरामेडिकल छात्रा के साथ छह लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया और उस पर नृशंस हमला किया था। उसके बाद पीड़िता को चलती बस से फेंक दिया गया था।