मदन लाल सैनी
मदन लाल सैनी

जयपुर/दक्षिण भारत। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी (75) का सोमवार को निधन हो गया। काफी दिनों से उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं था। वे दिल्ली के एम्स में भर्ती थे। सैनी राज्यसभा के सदस्य भी थे। एक रिपोर्ट के अनुसार, फेफड़ों में संक्रमण के बाद सैनी को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां से उन्हें एम्स लाया गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मदन लाल सैनी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। मोदी ने ट्वीट किया, मदन लाल सैनीजी का निधन भाजपा परिवार के लिए बहुत बड़ी क्षति है। उन्होंने राजस्थान में पार्टी को मजबूत करने में योगदान दिया। अपने सौहार्दपूर्ण स्वभाव और सामाजिक सेवा के प्रयासों की वजह से उनका बहुत सम्मान था। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और समर्थकों के साथ हैं। ऊं शांति।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सैनी के निधन को अपूर्णीय क्षति बताया। उन्होंने ट्वीट किया, संगठन के विभिन्न पदों पर रहे मदनलाल सैनीजी एक सच्चे जनसेवक थे जिनका पूरा जीवन पार्टी और समाज को समर्पित रहा .. मैं दुख की इस घड़ी में शोकाकुल परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रभु से प्रार्थना करता हूं।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सैनी के निधन पर शोक जताया। उन्होंने ट्वीट किया, राजस्थान भाजपा के अध्यक्ष मदन लाल सैनीजी के निधन के बारे में सुनकर हैरान और दुखी हूं। मेरी संवेदनाएं एवं प्रार्थनाएं उनके परिजनों के साथ हैं। ईश्वर इस क्षति को सहने की शक्ति दे। उनकी आत्मा को शांति मिले।

उल्लेखनीय है कि मदन लाल सैनी को पिछले साल जून में राजस्थान भाजपा अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। सैनी का जन्म 13 जुलाई, 1943 को हुआ था। वे 1952 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े थे। इसके अलावा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, भारतीय मजदूर संघ एवं भारतीय किसान मोर्चा में भी सक्रिय रहे। सैनी ने आपातकाल का विरोध किया था, जिसके बाद जेल गए। वे झुंझुनूं की उदयपुरवाटी सीट से 1990 में विधायक चुने गए। वे पिछले साल अप्रैल में राज्यसभा सांसद चुने गए थे।

LEAVE A REPLY